BBC navigation

 रविवार, 6 अप्रैल, 2014 को 14:44 IST तक के समाचार
  • ब्रिटेन में क़ानून में बदलाव के बाद अब लोग घर पर ही एचआईवी की जांच कर सकेंगे. हालांकि ब्रिटेन में अभी ऐसी कोई टेस्ट किट उपलब्ध नहीं है जिससे घर पर यह जांच की जा सके.

    6 अप्रैल, 2014

  • एचआईवी और एड्स के इलाज में जीन थैरेपी के इस्तेमाल से मरीजों को उम्मीद की नई रोशनी मिली है. इस प्रयोग से बीमारियों से लड़ने की उनकी क्षमता बढ़ी है और हो सकता है कि मरीज़ों को रोज़ दवा लेने की ज़रूरत न पड़े.

    7 मार्च, 2014

  • लगभग 10 साल पहले ज्ञान रंजन को जब ये पता चला कि वे एचआईवी संक्रमित हैं तो इसके बाद से ही उनकी ज़िंदगी बदल गई. शुरुआती निराशा के बाद उन्होंने एचआईवी संक्रमित लोगों के लिए काम करने की ठान लिया.

    1 दिसंबर, 2013

  • संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के मुताबिक एचआईवी संक्रमण और एड्स से जुड़ी मौतों में नाटकीय रुप से कमी आई है. रिपोर्ट के मुताबिक साल 2005 में 23 लाख मौतों की तुलना में पिछले साल ऐसी मौतों की संख्या 16 लाख रह रही.

    25 सितंबर, 2013

  • पिछले कुछ समय से दुनिया भर में टैटू गुदवाने का चलन बढ़ा है लेकिन ब्रितानी अधिकारियों की मानें तो राह चलते टैटू गुदवाना काफी मंहगा पड़ सकता है.

    29 अप्रैल, 2013

  • आमतौर पर एचआईवी एड्स का होना किसी मरीज़ के लिए मौत का फ़रमान होता है. लेकिन एक व्यक्ति ऐसा है जिसने न सिर्फ एड्स बल्कि कैंसर पर भी जीत पाई. जानिए कैसे?

    26 मार्च, 2013

  • दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक वहां लड़कियों में बढ़ते एचआईवी की वजह पुरुषों के झांसे में आकर बनाए गए यौन संबंध हैं.

    15 मार्च, 2013

  • अमरीका में एचआईवी वायरस से के साथ पैदा हुई एक बच्ची का इलाज कर उसे 'ठीक' कर लिया गया है. जानिए डॉक्टरों को कैसे मिली इतनी बड़ी कामयाबी..

    4 मार्च, 2013

  • अमरीकी वैज्ञानिकों ने नेचर पत्रिका में एड्स फैलाने वाले एचआईवी वायरस के संभावित इलाज की ओर पहला कदम उठाने का दावा किया है.

    26 जुलाई, 2012

  • अब एक ऐसी दवा बाजार में आ रही है जो एचआईवी संक्रमण से बचा सकती है. हालांकि विशेषज्ञ कह रहे हैं कि इन्हें दूसरी दवाओं के साथ नियमित लेने पर ही लाभ होगा.

    17 जुलाई, 2012

ब्लॉग लिखनेवाले

तस्वीरें/ फ़ोटो स्टोरी

ज़रूर पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.