'यू-ट्यूब एथलीट' जूलियस येगो

  • 4 अगस्त 2014
जूलियस येगो

ओलंपिक चैंपियन को मात देकर राष्ट्रमंडल खेलों की जेवलिन थ्रो स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीतने वाले ''यू-ट्यूब एथलीट'' जूलियस येगो इन दिनों सुर्खियों में हैं.

यू-ट्यूब एथलीट...कुछ अटपटा सा है ना. लेकिन 25 वर्षीय जूलियस येगो पर ये एकदम फिट बैठता है.

जूलियस ने बीबीसी के न्यूज़आर कार्यक्रम में खुद माना है कि उन्होंने जेवलिन फेंकने की सारी तकनीकें यू-ट्यूब से सीखी हैं.

जूलियस राष्ट्रमंडल खेलों की जेवलिन थ्रो स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतने वाले केन्या के पहले एथलीट हैं.

केन्या जो कि लंबी दूरी के अपने चैंपियन धावकों के लिए जाना जाता है, वहां से जेवलिन में नया चैंपियन मिलना वाकई कुछ हैरतअंगेज था.

जूलियस येगो

जूलियस ने अपनी सफलता का राज़ कुछ इस अंदाज़ में खोला, "मैंने यू-ट्यूब पर सर्वश्रेष्ठ जेवलिन थ्रोअर्स के वीडियो देखे."

जूलियस ने इन्ही वीडियोज़ के ज़रिये जेवलिन को फेंकने की तकनीकी सीखी.

जेवलिन जूलियस को बचपन से ही पसंदीदा रहा हो, ऐसा भी नहीं है. उन्होंने बताया, "मुझे दौड़ छोड़कर जेवलिन इसलिए थामना पड़ा क्योंकि मैं बहुत सुस्त था."

जूलियस ने 83.87 मीटर जेवलिन फेंककर गोल्ड मेडल जीता. उन्होंने अपने निकटतम प्रतिस्पर्धी ओलंपिक चैंपियन त्रिनिदाद और टोबेगो के केशोर्न वाल्कॉट को पछाड़ा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार