ग्लासगो: योगेश्वर और बबीता को सोना

  • 31 जुलाई 2014
योगेश्वर दत्त

ग्लासगो राष्ट्रमंडल खेलों में गुरुवार को तीन भारतीय पहलवान कुश्ती के फ़ाइनल में थे, जिनमें से दो ने स्वर्ण पदक जीता जबकि एक रजत पदक हासिल हुआ.

दिल्ली राष्ट्रमंडल खेल में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहलवान योगेश्वर दत्त ने ग्लासगो में भी स्वर्ण पदक जीत लिया.

उन्होंने 65 किलो फ़्रीस्टाइल वर्ग में कनाडा के अपने प्रतिद्वन्द्वी जेवोन बैलफ़ोर को 10-0 से हराया.

योगेश्वर दत्त ने लंदन ओलंपिक में काँस्य पदक जीता था. टूर्नामेंट की शुरुआत से ही माना जा रहा था कि योगेश्वर स्वर्ण दत्त जीत लेंगे.

उन्हें बैलफ़ोर को हराने में कोई परेशानी नहीं हुई. योगेश्वर ने दो मिनट के भीतर ही फ़ाइनल जीत लिया.

बबीता का स्वर्ण

इससे पहले पहलवान बबीता कुमारी ने राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय पहलवानों का स्वर्णिम प्रदर्शन जारी रखा.

बबीता कुमारी

उन्होंने गुरुवार को भारत का पहला स्वर्ण पदक जीता.

बबीता ने 55 किलो फ़्रीस्टाइल कुश्ती में कनाडा की ब्रिटनी लैवरडोर को 9-2 से हराया.

बबीता ने दिल्ली में 2010 में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीता था. उस समय वह 51 किलोग्राम वर्ग में थीं.

महिलाओं के 63 किलो फ़्रीस्टाइल वर्ग में गीतिका जाखड़ के सामने कनाडा की डैनिएल लेपाज थीं मगर गीतिका उनके सामने टिक नहीं सकीं.

गीतिका जाखड़

गीतिका को लगातार आक्रामक न होने के लिए चेतावनी मिलती रही. अंत में लेपाज ने 7-0 से गीतिका को हरा दिया.

इसके अलावा पुरुषों के 86 किलो वर्ग में भारत के पवन कुमार और पाकिस्तान के मोहम्मद इनाम कांस्य पदक के लिए भिड़ेंगे.

भारत के अमित कुमार, सुशील कुमार और विनेश फ़ोगट ने मंगलवार को स्वर्ण पदक जीते थे जबकि राजीव तोमर को रजत मिला था.

इसके बाद बुधवार को ललिता, बजरंग, साक्षी मलिक और सत्यव्रत कादियान को रजत पदक हासिल हुआ था.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप बीबीसी से फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.)