भारतीय गेंदबाज़ों ने बनाया ऑकलैंड टेस्ट को रोमांचक

  • 8 फरवरी 2014
कोरी एंडर्सन

न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ भारतीय गेंदबाज़ों के बेहतरीन प्रदर्शन ने ऑकलैंड टेस्ट को रोमांचक स्थिति में ला खड़ा किया है.

टेस्ट के तीसरे दिन ज़हीर ख़ान, मोहम्मद शमी और ईशांत शर्मा की तिकड़ी ने ज़ोरदार प्रदर्शन करते हुए न्यूज़ीलैंड की दूसरी पारी को 105 रनों पर समेट दिया.

जीत के लिए 406 रन बनाने उतरी भारतीय टीम ने तीसरे दिन का खेल ख़त्म होने तक एक विकेट के नुकसान पर 87 रन बना लिए हैं.

मुरली विजय के सस्ते में आउट हो जाने के बाद दौरे में अब तक बेहद साधारण रहे शिखर धवन की फॉर्म में वापसी दिखी और वो 49 रन बनाकर नॉट आउट हैं. क्रीज़ पर उनका साथ दे रहे हैं चेतेश्वर पुजारा जो 22 रन बनाकर खेल रहे हैं.

मैच में अभी दो दिन बाक़ी हैं और ऐसे में अगर मौसम ठीक रहा तो इस टेस्ट का नतीजा निकलना तय है.

पलटवार

मोहम्मद शमी

तीसरे दिन का खेल जब शुरू हुआ तो न्यूज़ीलैंड के 503 रनों के जवाब में भारत का स्कोर चार विकेट के नुकसान पर 130 रन था. लेकिन भारतीय पारी सिर्फ़ 72 रन और जोड़कर 202 रनों पर ऑल आउट हो गई.

सबसे ज़्यादा 72 रन, रोहित शर्मा ने बनाए, जबकि रविंद्र जडेजा 30 रन बनाकर नॉट आउट रहे.

न्यूज़ीलैंड को भारत से पहली पारी के आधार पर 301 रनों की बढ़त मिली लेकिन हैरानी की बात ये रही कि उन्होंने भारत को फ़ॉलोऑन खेलने के लिए नहीं कहा और ख़ुद बैटिंग करने का फ़ैसला किया.

महंगा पड़ा फ़ैसला

ईशांत शर्मा

न्यूज़ीलैंड का ये फ़ैसला उनके लिए उल्टा साबित हुआ और भारतीय तेज़ गेंदबाज़ों ने पिच से मिल रही मदद का पूरा फ़ायदा उठाया.

मोहम्मद शमी और ज़हीर ख़ान की बेहतरीन गेंदबाज़ी के चलते न्यूज़ीलैंड की आधी टीम 25 रनों पर पवैलियन वापस जा चुकी थी.

इसके बाद मोर्चा संभाला ईशांत शर्मा ने और न्यूज़ीलैंड की पूरी टीम 105 रन बनाकर ऑलआउट हो गई.

शमी और ईशांत ने तीन-तीन और ज़हीर ख़ान ने दो विकेट लिए. न्यूज़ीलैंड की ओर से रॉस टेलर ही कुछ प्रतिरोध कर पाए और उन्होंने 41 रन बनाए.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार