पाकिस्तान की ओलंपिक सदस्यता निलंबित करने की सिफारिश

  • 8 सितंबर 2013
ओलंपिक
ब्यूनस आयर्स में हुई अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति की बैठक

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के कार्यकारी बोर्ड ने पाकिस्तान की आलंपिक सदस्यता को निलंबित करने की सिफारिश की है और अपने मुख्यालय से कहा है कि वो इस मामले पर सभी कानूनी पहलुओं का जायजा लेने के बाद तुरंत फैसला करे.

कार्यकारी बोर्ड की सिफारिश के बाद आने वाले दिन पाकिस्तान के बहुत अहम समझे जा रहे हैं.

बताया जा रहा है कि अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) पाकिस्तान में ओलंपिक चार्टर के बार बार हो रहे उल्लंघन को देखते हुए पाकिस्तान की सदस्यता को निलंबित कर सकती है.

इससे पहले आईओसी ने भारतीय ओलंपिक संघ के चुनावों में कथित गड़बड़ी के बाद भारत की सदस्यता को निलंबित कर दिया था.

खींचतान

अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में एक बैठक के दौरान आईओसी ने पाकिस्तान में ओलंपिक हाउस पर पुलिस के कब्जे और पाकिस्तान ओलंपिक संघ (पीओए) के खाते सील किए जाने की आलोचना की है.

ओलंपिक कार्यकारी बोर्ड का कहना है कि पीओए के खातों में रकम आईओसी और ओलंपिक परिषद एशिया की तरफ से आती है, लिहाजा किसी दूसरे को ये बैंक खाते इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं है.

आईओसी लेफ्जिनेंट जनरल (रिटायर्ड) आरिफ हसन की अध्यक्षता में बने पाकिस्तान ओलंपिक संघ को पाकिस्तान का प्रतिनिधि मानती है.

लेकिन कथित सरकारी हस्तक्षेप के परिणामस्वरूप मेजर जनरल (रिटायर्ड) अकरम साही की अध्यक्षता में पाकिस्तान ओलंपिक संघ के गठन और राष्ट्रीय खेलों के मामले में उनकी ओर से अपना प्रभाव इस्तेमाल करने के कारण पाकिस्तान में खेल संबंधी मामले खींचतान का शिकार हैं.

आईओसी ने कई बार कहा है कि वो अकरम साही की अध्यक्षता वाले संघ को मान्यता नहीं देती है और इस बारे में उनकी तरफ से जो भी किया गया है वो ओलंपिक चार्टर का उल्लंघन है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार