BBC navigation

'शाहरुख़ को स्टेडियम में घुसने नहीं दिया जाएगा'

 मंगलवार, 7 मई, 2013 को 12:58 IST तक के समाचार
शाहरुख़ ख़ान

पिछले साल आईपीएल मैच के दौरान शाहरुख़ और सुरक्षाकर्मियों के बीच झड़प हुई थी

पिछले साल आईपीएल के एक मैच के दौरान फिल्म स्टार और कोलकाता नाइट राइडर्स के मालिकों में से एक शाहरुख़ ख़ान वानखेड़े स्टेडियम के सुरक्षा कर्मचारियों से भिड़ गए थे.

इस घटना के बाद मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने शाहरुख़ के स्टेडियम में घुसने पर क्लिक करें पाँच साल तक के लिए प्रतिबंध लगा दिया था.

एक बार फिर मंगलवार को कोलकाता नाइट राइडर्स और मुंबई इंडियंस के बीच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में मुक़ाबला होने जा रहा है और मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने स्पष्ट कर दिया है कि शाहरुख़ ख़ान को स्टेडियम में घुसने नहीं दिया जाएगा.

एमसीए ने स्थानीय पुलिस स्टेशन को पत्र लिखकर सूचित किया है कि शाहरुख़ ख़ान को स्टेडियम में घुसने न दिया जाए.

पत्र

"हमने मरीन लाइंस पुलिस स्टेशन को पत्र लिखकर कहा है कि वे शाहरुख़ ख़ान को स्टेडियम में न घुसने दें. हमें पुलिस ने ऐसा पत्र भेजने को कहा था"

रवि सावंत, अध्यक्ष, एमसीए

एमसीए के मौजूदा अध्यक्ष रवि सावंत ने पत्रकारों को बताया, "हमने मरीन लाइंस पुलिस स्टेशन को पत्र लिखकर कहा है कि वे शाहरुख़ ख़ान को स्टेडियम में न घुसने दें. हमें पुलिस ने ऐसा पत्र भेजने को कहा था."

पिछले साल मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में हुए मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स ने मुंबई इंडियंस को हरा दिया था. इसके बाद मैदान में घुसने को लेकर शाहरुख़ ख़ान और सुरक्षाकर्मियों के बीच झड़प हो गई थी.

बाद में मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अधिकारियों के साथ भी शाहरुख़ ख़ान की कहासुनी हुई थी. हालाँकि शाहरुख़ ख़ान का दावा था कि सुरक्षा कर्मचारियों ने उनकी बेटी और उसके दोस्तों के साथ क्लिक करें बदतमीजी की थी.

इस मामले के सामने आने के बाद मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने शाहरुख़ ख़ान के स्टेडियम में घुसने पर पाँच साल की पाबंदी लगा दी थी. उस समय विलासराव देशमुख एमसीए के अध्यक्ष थे.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.