सस्ते में निपटे भारत के शीर्ष बल्लेबाज़

  • 14 दिसंबर 2012
धोनी
भारत को सीरिज़ ड्रॉ करने के लिए ये टेस्ट मैच जीतना ज़रूरी है

नागपुर टेस्ट के पहले दिन के खेल के बाद ये तय करना मुश्किल था कि भारत और इंग्लैंड की दोनों टीमों के बीच मैच में पलड़ा किसका भारी है?

लेकिन दूसरे दिन का खेल खत्म होने के साथ ही ये साफ़ हो गया है कि इंग्लैंड की टीम भारतीय टीम पर भारी साबित हो रही है.

आज दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंड की पहली पारी के 330 रनों के जवाब में भारत ने चार विकेट पर 87 रन बनाए थे.

जेम्स एंडरसन के बेहतरीन खेल की बदौलत भारत की बैंटिंग लाइन के शीर्ष बल्लेबाज़ बुरी तरह से असफल साबित हुए.

एंडरसन ने तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग समेत भारत के चारों शीर्ष बल्लेबाज़ों को 87 रन के स्कोर पर आउट कर दिया था.

टेस्ट सिरीज़ से अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत करने वाले इंग्लैंड टीम के सबसे कम उम्र के खिलाड़ी जो रूट ने बेहतरीन प्रदर्शन किया.

जेम्स एंडरसन ने बेहतरीन गेंदबाज़ी करते हुए तेंदुलकर और सहवाग के अहम विकेट लिए.

इन दोनों के आउट होने के साथ ही इंग्लैंड की मैच पर पकड़ और मज़बूत हो गई.

हालांकि नागपुर की पिच ने भी स्पिन गेंदबाज़ों को खासा परेशान किया. इंग्लैंड के स्पिन गेंदबाज़ मोंटी पनेसर और स्वान को भी काफी मेहनत करनी पड़ी.

चेतेश्वर पुजारा और गौतम गंभीर के विकेट भी सस्ते में ही निपट गए.

और दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारत 87 रनों पर चार विकेट जा चुके थे.

भारतीय पारी

इससे पहले सुबह चौथे और आख़िरी टेस्ट मैच के दूसरे दिन की शुरुआत इंग्लैंड की पहली पारी से हुई.

जो पारी खत्म होने तक 330 रनों पर सिमट गई थी.

इंग्लैंड की ओर से कीव पीटरसन और जोए-रूट ने 73-73, मैट्ट प्रायर ने 57 और ग्रेम स्वान ने 56 रन बनाए.

गेंदबाज़ी कर रहे भारतीय खिलाड़ियों में भारत की ओर से पीयूष चावला ने चार, इशांत शर्मा ने तीन और रविंद्र जडेजा ने दो विकेट लिए. आर अश्विन को एक विकेट लेने में सफलता मिली.

दूसरे दिन के खेल के पहले सत्र में आर अश्विन ने प्रायर को 57 रन के निजी स्कोर पर बोल्ड आउट कर दिया था.

इसके कुछ ही देर बाद इशांत ने ब्रेस्नन को शून्य पर पगबाधा आउट कर दिया. जिस समय ये दोनों विकेट गिरे थे उस वक्त इग्लैंड का स्कोर 242 था.

हालांकि बाद में क्रीज़ पर आए बल्लेबाज़ जोए-रूट और ग्रीम स्वान ने अच्छी पारी खेली.

जोए-रूट 73 रन और स्वान ने 56 रन बनाए. रुट और स्वान का विकेट पीयूष चावला ने लिया.

उसके बाद आउट होने वाले अंतिम बल्लेबाज एंडरसन रहे, जिन्हें पीयूष चावला ने चार रन के निजी स्कोर पर चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच आउट करवाया.

मैच के पहले दिन इंग्लैंड की टीम ने दिन का खेल खत्म होने तक 97 ओवर में पांच विकेट खोकर 199 रन बनाए थे.

भारत की ओर से इशांत शर्मा और रवींद्र जडेजा ने दो-दो विकेट चटकाए थे, जबकि पीयूष चावला को एक सफलता मिली थी.

इस मैच के लिए भारत ने अपनी अंतिम एकादश टीम में दो परिवर्तन किए थे. युवराज सिंह की जगह रवींद्र जडेजा और ज़हीर खान की जगह लेग स्पिनर पीयूष चावला को टीम में जगह दी गई थी.

इंग्लैंड ने भी टीम में दो परिवर्तन किए और तेज गेंदबाज स्टीवन फिन की जगह टिम ब्रेस्नन और समित पटेल की जगह जोए रूट को शामिल किया है.

भारतीय टीम अगर ये सीरीज़ ड्रा करना चाहती है तो उसे हर हाल में नागपुर टेस्ट जीतना होगा.

संबंधित समाचार