BBC navigation

टी-20 विश्वकप: पहले बल्लेबाज़ी करेगा पाक

 रविवार, 30 सितंबर, 2012 को 19:13 IST तक के समाचार
टीम इंडिया

कोलंबो में हो रहे भारत-पाक मैच में टॉस जीतकर पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाज़ी करने का फैसला किया.

ऑस्ट्रेलिया से पहले मैच में मिली क्लिक करें करारी शिकस्त के बाद रविवार को क्लिक करें टीम इंडिया के पास क्लिक करें टी-20 विश्वकप में बने रहने का एक आखिरी मौका है. अगर भारत को अंतिम चार में जगह बनाने के बारे में सोचना है, तब उसे पाकिस्तान को एक बड़े फासले से हराकर अपनी उम्मीदों को बरकरार रखना होगा.

लेकिन अगर भारत रविवार को पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबला हार जाता है तब सेमी फ़ाइनल में पहुँचने की उसकी उमीदें न के बराबर ही रह जाएंगी.

दूसरी तरफ पाकिस्तान की टीम इस मैच में पूरे उत्साह के साथ उतरेगी क्योंकि उसने अपने पहले सुपर आठ मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को एक रोमांचक मैच में परास्त किया था.

स्टेडियम में भारत और पाकिस्तान के क्रिकेट प्रेमियों का जमावड़ा लगा है. दोनों देशों के प्रशंसकों पर मैच का सुरुर साफ दिखाई दे रहा है.

रणनीति

हालांकि पांच गेंदबाजों के साथ मैच में उतरने की महेंद्र सिंह धोनी की रणनीति इंग्लैंड के खिलाफ हुए ग्रुप मैच में तो सफल रही थी, लेकिन पिछले मैच में ऑस्ट्रेलिया के शेन वाटसन और वार्नर ने भारतीय गेंदबाजों की जम कर धुनाई भी की थी.

हालांकि कप्तान धोनी ने ऑस्ट्रेलिया की पारी के पहले हुई हल्की बारिश को ज़िम्मेदार ठहराया था लेकिन किसी एक भी भारतीय गेंदबाज़, स्पिनर या तेज़ गेंदबाज़ को अपनी लय नहीं मिल सकी थी.

हो सकता है कि कप्तान धोनी इस मैच में भी पांच गेंदबाजों वाली अपनी रणनीति पर अडिग रहें, लेकिन स्पिनर पीयूष चावला को टीम में जगह मिलना एकदम नामुमकिन सा लग रहा है.

कप्तान धोनी ने पाकिस्तान से होने वाले मैच के पहले कहा, "मुझे लगता है टीम में पूरा दम है. ये ज़रूरी है कि खिलाड़ी मैदान में जाकर अपनी अभिव्यक्ति करें और अपने टैलेंट के मुताबिक़ खेलें. बड़े शॉट्स लगाएं."

उन्होंने कहा, "हमारे लिए ये ज़रूरी है कि टीम का हर सदस्य खेल का मज़ा ले. रहा सवाल पिच का तो मुझे लगता है कि धीमी गति के गेंदबाजों को आगे भी मदद मिलने के आसार हैं."

मज़बूत पाकिस्तान

उमर अकमल

पाकिस्तान की गेंदबाज़ी-बल्लेबाज़ी दोनों मज़बूत है

दूसरी तरफ़ पाकिस्तान की टीम इस अहम मैच के लिए पूरे उत्साह से उतरेगी. हर पाकिस्तानी खिलाड़ी के ज़ेहन में 2011 विश्वकप के सेमी फ़ाइनल में भारत से मिली हार की भी याद ताज़ा होगी.

प्रतियोगिता शुरू होने के पहले पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ हुए अभ्यास मैच में आसानी से जीत दर्ज की थी.

इसके बाद पाकिस्तान की टीम ने बांग्लादेश और मज़बूत दक्षिण अफ्रीका को भी परास्त किया है.

लेकिन धोनी की टीम को अगर ये मैच जीतना है तो निश्चित तौर पर भारतीय बल्लेबाजों को एक बड़ा स्कोर खड़ा करना होगा और साथ ही पाकिस्तान की गेंदबाजी पर हमला करना होगा.

वजह ये कि पाकिस्तान की गेंदबाजी में अब तक भारत से ज़्यादा धार दिखी है और पाकिस्तान के खिलाफ हुए मैच में भज्जी से लेकर ज़हीर खान ने निराश ही किया था.

पाकिस्तान के खिलाफ मैच में धोनी, वीरेंदर सहवाग नामक हथियार का प्रयोग कर सकते हैं और पाकिस्तान के खिलाफ़ वीरू का रिकॉर्ड भी ज़बरदस्त रहा है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.