बिकने के लिए तैयार डेक्कन चार्जर्स

 गुरुवार, 6 सितंबर, 2012 को 15:15 IST तक के समाचार
आईपीएल टीम डैक्कन चार्जर्स

आईपीएल टीम डैक्कन चार्जर्स की मालिक कंपनी ने टीम को नीलाम करने के लिए टेंडर सूचना जारी की है.

इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल की टीम डेक्कन चार्जर्स, नीलामी के लिए तैयार है.

डेक्कन चार्जर्स की मालिक कंपनी, डेक्कन क्रॉनिकल होल्डिंग्स लिमिटिड (डीसीएचएल) ने इस आशय का विज्ञापन गुरुवार को कुछ अखबारों में दिया है.

कुछ समय पहले कंपनी ने टीम के लिए नया खरीदार जुटाने में भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) से ये कहते हुए मदद मांगी थी कि कंपनी आर्थिक संकट से जूझ रही है और उसके पास टीम चलाने के लिए पैसा नहीं है.

टीम के भविष्य के बारे में फैसला करने के लिए चार सितंबर को नई दिल्ली में बीसीसीआई की बैठक हुई थी हालांकि इसके नतीजे के बारे में कोई औपचारिक घोषणा नहीं हुई थी.

और अब डेक्कन चार्जर्स की मालिक कंपनी ने बीसीसीआई के साथ मिलकर टीम को नीलाम करने की घोषणा की है.

आर्थिक संकट

विज्ञापन में लिखा है कि टीम के लिए बोली लगाने का टेंडर का फॉर्म सात सितंबर से बीसीसीआई के मुंबई ऑफ़िस से खरीदा जा सकता है. बोली की आखिरी तारीख 13 सितंबर है और जीतने वाली पार्टी की घोषणा उसी दिन चेन्नई में होगी.

पिछले कुछ समय से मीडिया में ऐसी ख़बरें आ रही थीं कि डेक्कन क्रॉनिकल होल्डिंग्स लिमिटिड ने धन जुटाने के लिए बीसीसीआई की मंज़ूरी के बिना ही टीम को दो बैंकों के पास गिरवी रख दिया था.

बोर्ड ने मामला सुलझाने के लिए कंपनी को पहले 31 अगस्त और फिर 15 सितंबर तक का समय दिया था. और ऐसा न कर पाने की स्थिति में बोर्ड ने कहा था कि वो डीसीएचएल का करार रद्द कर देगा.

जून में डीसीएचएल ने मुंबई स्टॉक एक्सचेंज को सूचित किया था कि कई पार्टियों ने डेक्कन चार्जर्स में हिस्सेदारी खरीदने में दिलचस्पी दिखाई है.

डेक्कन चार्जर्स ने वर्ष 2009 में आईपीएल का दूसरे संस्करण जीता था लेकिन उसके बाद से टीम का प्रर्दशन कुछ ख़ास नहीं रहा है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.