दक्षिण अफ्रीका बनी टेस्ट क्रिकेट की नंबर वन टीम

 मंगलवार, 21 अगस्त, 2012 को 01:07 IST तक के समाचार
दक्षिण अफ्रीका की क्रिकेट टीम

दक्षिण अफ्रीका टेस्ट क्रिकेट में दुनिया की अव्वल टीम बन गई है.

लंदन के लॉर्डस मैदान में इंग्लैंड को तीसरे टेस्ट मैच में 51 रन से हराकर दक्षिण अफ्रीका ने तीन मैचों की श्रृंखला 2-0 से जीती और इसके साथ ही नंबर-वन टेस्ट टीम का खिताब भी अपने नाम कर लिया.

नवंबर 2009 में पहले पायदान से खिसकने के बाद दक्षिण अफ्रीका अब टेस्ट मैचों की रैंकिंग में शीर्ष पर आया है.

इंग्लैंड, पिछले एक वर्ष से पहली रैंकिग पर बना हुआ था. रैंकिंग के शीर्ष पर आने के लिए इंग्लैंड ने भारत को पहले पायदान से खिसकाया था.

तब, यानि 2011 से अब भारत लुढ़कते हुए टेस्ट रैंकिंग में पांचवे स्थान पर आ गया है.

कांटे की टक्कर

जीत के लिए इंग्लैंड को रिकॉर्ड 346 रन बनाने थे लेकिन पूरी टीम 294 रन पर सिमट गई.

"हम जब यहां मैच खेलने आए थे, तब इंग्लैंड दुनिया की नंबर वन टीम थी. घरेलू मैदान पर इंग्लैंड की टीम को हराना मेरे करियर की बड़ी उपलब्धियों में से एक है"

ग्रीम स्मिथ

'मैन ऑफ द मैच' रहे वेर्नोन फिलेंडर, जिन्होंने अपने निर्धारित ओवरों में सिर्फ 30 रन देकर कुल पांच विकेट झटके.

इसमें फिलेंडर ने दो विकेट तो महज़ दो गेंदों में चटका लिए.

इस जीत पर दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ग्रैम स्मिथ ने कहा, ''हम जब यहां मैच खेलने आए थे, तब इंग्लैंड दुनिया की नंबर वन टीम थी. घरेलू मैदान पर इंग्लैंड की टीम को हराना मेरे करियर की बड़ी उपलब्धियों में से एक है.''

भारत पांचवे स्थान पर

आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग के मुताबिक, इंग्लैंड अब दूसरे नंबर पर और ऑस्ट्रेलिया तीसरे नंबर पर है. वहीं रैंकिंग में चौथे स्थान पर पाकिस्तान और पांचवें पर भारत है.

श्रीलंका का छठवां, वेस्टइंडीज का सातवां, न्यूज़ीलैंड का आठवां और बांग्लादेश की टेस्ट टीम नौवे स्थान पर है. जिम्बाब्वे इस रैंकिग में कहीं नहीं है क्योंकि उसने रैंकिग के लिए जरूरी मैच पर्याप्त संख्या में नहीं खेले हैं.

लेकिन वनडे-रैकिंग में अभी भी इंग्लैंड अव्वल है और दक्षिण अफ्रीका दूसरे स्थान पर है. वहीं भारत यहां तीसरे स्थान पर है.

आईसीसी की टी-20 रैंकिंग में दक्षिण अफ्रीका एक बार फिर पहले स्थान पर जबकि इंग्लैंड दूसरे और श्रीलंका तीसरे स्थान पर है. भारत की इसमें चौथी रैंकिंग है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.