BBC navigation

टांग टूटी, पर टीम को पहुँचाया फ़ाइनल में

 शुक्रवार, 10 अगस्त, 2012 को 08:35 IST तक के समाचार
मैनटियो मिचैल

मिचैल जब अपने कैंप में लौटे और डॉक्टरी जांच कराई तो पता चला कि उनके पैर की हड्डी टूट गई है

ओलंपिक में अगर हिम्मत और जज़्बे के नाम कोई पदक होता तो अमरीका के मैनटियो मिचैल हर कीमत पर उसके एक प्रबल दावेदार बनते.

हुआ यूं कि शुक्रवार को चार गुणा 400 मीटर की रिले रेस में अमरीका का प्रतिनिधित्व कर रही टीम के सदस्य मैनटियो मिचैल ने रेस की शुरुआत की और दौड़ना शुरु किया, लेकिन 200 मीटर पार होते ही अचानक उन्हें एहसास हुआ कि उनके बांए पैर की हड्डी टूट गई है.

दर्द से छटपटाते मैनटियो को एक बार लगा कि वो लड़खड़ाकर गिर पड़ेंगे, लेकिन उन्होंने रुकने के बजाय रेस पूरी करने का फैसला किया, क्योंकि वो नहीं चाहते थे कि उनकी चोट का उनके साथियों को पता चले और टीम प्रतियोगिता से बाहर हो जाएं.

प्रतियोगिता के बाद मिचैल जब अपने कैंप में लौटे और डॉक्टरी जांच कराई तो पुष्टि हुई कि उनके पैर की हड्डी टूट गई है.

मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा, ''मुझे काफी दर्द हुआ..मैं खुद हैरान हूं कि मैंने टूटे पैर के साथ लगभग 45 सेकेंड में ही अपनी दूरी पूरी कर ली.''

‘यूएसए ट्रैक एंड फील्ड’ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मैक्स सीगल के मुताबिक, ''मैनटियो अपनी टीम के हीरो हैं और दूसरों के लिए एक मिसाल बन गए हैं.''

अमरीकी पुरुष टीम रिले वर्ग की चैंपियन रही है और इस टीम ने अब तक जितने भी मुक़ाबलों में हिस्सा लिया है उन सभी में जीत हासिल की है. हालांकि फिलहाल ये तय नहीं हो पाया है कि शुक्रवार को होने वाली फाइनल प्रतियोगिता में मैनटियो मिचैल हिस्सा ले पाएंगे या नहीं.

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.