BBC navigation

इनकार के बाद इनामों की घोषणा

 गुरुवार, 15 सितंबर, 2011 को 08:57 IST तक के समाचार
भारतीय हॉकी

खेल मंत्रालय ने इनाम की घोषणा की है

पाकिस्तान को हराकर पहली एशियन चैम्पियंस ट्रॉफ़ी हॉकी प्रतियोगिता जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के 25 हज़ार रुपए की इनामी राशि लेने के इनकार के बाद खेल मंत्रालय ने नए इनामों की घोषणा की है.

पहले हॉकी इंडिया ने विजेता टीम के सभी खिलाड़ियों को 25-25 हज़ार रुपए इनामी राशि के रूप में देने की घोषणा की थी.

लेकिन कप्तान राजपाल सिंह ने इस पर नाराज़गी जताई और टीम ने ये राशि लेने से इनकार कर दिया.

बुधवार को ये मामला मीडिया में छाया रहा, जिसके बाद खेल मंत्री अजय माकन ने विजेता टीम के हर खिलाड़ियों को डेढ़-डेढ़ लाख रुपए देने की घोषणा की.

योजना

इसके अलावा पंजाब सरकार ने भी विजेता टीम को 25 लाख रुपए देने की घोषणा की है.

"सरकार अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में जीत हासिल करने वाले खिलाड़ियों और टीम को पुरस्कृत करती है. एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले खिलाड़ी को तीन लाख रुपए और टीम के हर सदस्य को डेढ़ लाख रुपए दिए जाते हैं. हम हॉकी खिलाड़ियों पर कोई अहसान नहीं कर रहे"

अजय माकन

हालाँकि अजय माकन का कहना है कि खिलाड़ियों को पुरस्कृत करने की ये योजना पहले से ही लागू है. उन्होंने कहा, "सरकार अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में जीत हासिल करने वाले खिलाड़ियों और टीम को पुरस्कृत करती है. एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले खिलाड़ी को तीन लाख रुपए और टीम के हर सदस्य को डेढ़ लाख रुपए दिए जाते हैं. हम हॉकी खिलाड़ियों पर कोई अहसान नहीं कर रहे."

बुधवार को हॉकी टीम के कप्तान राजपाल सिंह ने हॉकी इंडिया की ओर से विजेता टीम के हर खिलाड़ियों को 25-25 हज़ार रुपए दिए जाने पर निराशा जताई थी और कहा था कि ये धनराशि विजेता टीम के मनोबल को कम करेगी.

खेल मंत्रालय के अलावा पंजाब सरकार ने विजेता टीम को एकमुश्त 25 लाख रुपए देने की घोषणा की. उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने ये घोषणा की और कहा कि ये खिलाड़ी राष्ट्र का गौरव हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

संबंधित टॉपिक्स

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.