विजेंदर, सुशील और मेरी कॉम को खेल रत्न

विजेंदर ने बीजिंग ओलंपिक में पदक जीता था.

प्रतिष्ठित राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार इस बार तीन खिलाड़ियों को देने की घोषणा की गई है.

मुक्केबाज़ मेरी कॉम और विजेंदर सिंह और पहलवान सुशील कुमार को इस वर्ष यह पुरस्कार दिया जाएगा.

आमतौर पर ये सम्मान एक या दो खिलाड़ियों को मिलता है लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है कि तीन खिलाड़ियों को एक साथ ये सम्मान दिया जाएगा.

25 वर्ष की मेरी कॉम चार बार विश्व चैंपियन रह चुकी हैं. मणिपुर की मेरी 2004 में अर्जुन पुरस्कार जीत चुकी हैं और 2006 में उन्हें पद्मश्री भी मिला था.

जबकि विजेंदर सिंह ने मुक्केबाज़ी में बीजिंग ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था. ओलंपिक में पदक जीतने वाले वे पहले भारतीय मुक्केबाज़ हैं.

वहीं 56 साल में पहली बार किसी पहलवान को खेल रत्न अवॉर्ड मिलेगा. सुशील सिंह ने बीजिंग ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था.

अर्जुन पुरस्कार

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक खेल मंत्रालय ने एक बयान में कहा है, "आम तौर पर खेल रत्न सम्मान किसी एक खिलाड़ी को ही हर साल दिया जाता है. लेकिन विजेंदर और सुशील के बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए सरकार ने चयन समिति की सिफ़ारिश मान ली है."

इसके अलावा अर्जुन पुरस्कारों की भी घोषणा की गई है. इसमें गौतम गंभीर, साइना नेहवाल, डबल ट्रैप शूटर रंजन सोढ़ी और हॉकी खिलाड़ी इग्नेस तिर्की का नाम शामिल है.

द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिए साइना के कोच पी गोपीचंद और सुशील कुमार के कोच सतपाल सिंह को चुना गया है.

ये पुरस्कार 29 अगस्त को राष्ट्रपति भवन में दिए जाएँगे. 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस के रुप में मनाया जाता है.

पिछले साल खेल रत्न पुरस्कार महेंद्र सिंह धोनी को मिला था.

BBC navigation

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.