मैनचेस्टर यूनाइटेड भारत में खोलेगा कैफ़े

फ़ाइल फ़ोटो

मैनचेस्टर यूनाइटेड लोगो

क्रिकेट भले ही भारत का सबसे लोकप्रिय खेल हो लेकिन भारतीय बाज़ार अब दुनिया के चर्चित फुटबॉल क्लबों को भी लुभा रहे हैं.

दुनिया के सबसे मशहूर फ़ुटबॉल क्लबों में से एक, मैनचेस्टर यूनाइटेड ने अब भारत में कैफ़े खोलने का एलान किया है. सबसे पहला कैफ़े मुंबई में खोला जाएगा.

इससे पहले पिछले महीने ही मुंबई से सटे पुणे में लिवरपुल फुटबॉल क्लब की मदद से एक फ़ुटबॉल क्लब खोला गया है..

हालांकि इंग्लिश प्रीमियर लीग और यूईएफए लीग चैंपियंस पर कब्ज़ा करने वाली मैनचेस्टर यूनाइटेड ने इससे पहले भारत की तरफ़ का रुख़ कभी नहीं किया है लेकिन भारत में विदेशी फुटबॉल की टीमों में इसे सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है.

साथ ही पिछले कुछ सालों में इस क्लब ने भारत के साथ अच्छे रिश्ते भी कायम किए हैं.

भारत की सबसे बड़ी टेलकॉम कंपनियों में से एक भारती एयरटेल पहली ऐसी कंपनी है जिसने ओल्ड ट्रैफ़र्ड से स्पांसरशिप के लिए सौदा किया हुआ है..

अब मैनचेस्टर यूनाइटेड क्लब के व्यावसायिक धड़े, मैनचेस्टर यूनाइटेड फुड एंड बेवेरेज ने भारत के कई बड़े शहरों में कैफे बार खोलने का फ़ैसला किया है और इस सिलसिले में भारत के सबसे व्यस्त और कभी न सोने वाले शहर मुंबई को चुना है..

इन कैफे बारों में वीडियो स्क्रीन लगी होगी जिसमें दुनिया भर के फुटबॉल क्लबों के अलग अलग मैचों के अलावा टीमों के बारे में विस्तार से जानकारी और खिलाड़ियों के कपड़ों की नीलामी भी दिखाई जा सकेगी..

वैसे तो भारत में लोगों पर क्रिकेट का ही बुखार रहता है लेकिन दुनिया के कुछ मशहूर फुटबॉल खिलाड़ियों जैसे क्रिस्टियानो रोनाल्डो और डेविड बेखम भी किसी स्थानीय क्रिकेटर से ज्यादा मशहूर हैं.

फुटबॉल के विश्व कप मैचों के दौरान भारत में टीवी पर भारी संख्या में इसे देखा जाता है और लगभग पांच करोड़ लोग दुनिया की मशहूर फुटबॉल टीमों की भिडंत टीवी पर देखते हैं.

यही वज़ह है कि ये फुटबॉल क्लब अब भारत में व्यवसाय के नए अवसर तलाश रहे हैं..

हांलाकि भारत की राष्ट्रीय टीम के अंग्रेज़ कोच बॉब हट्न ने बयान दिया है कि इन क्लबों का ध्यान भारत में फुटबॉल के विकास पर कम और अपने व्यवसायिक अवसरों को भुनाने पर ज्यादा है.

BBC navigation

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.