http://www.bbcchindi.com

'सेक्स से बचने से एड्स की रोक नहीं'

कई प्रभावशाली संगठन जिसमें कथोलिक चर्च भी शामिल है, की दलील रही है कि लोग जब तक केवल एक व्यक्ति के साथ यौन संबंध में कायम नहीं हो पाते तब तक एड्स बीमारी की रोकथाम नहीं हो सकती है.

ये संगठन इस दलील को नैतिक दृष्टि से सही और प्रभावशाली तरीके के रूप में देखते हैं.

लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन के अध्यक्ष डॉक्टर पावलो टिशेरा ने इसका खंडन करते हुए कहा है कि सेक्स से बचने से उलटे बीमारी के फैलने का ख़तरा है.

डॉक्टर टिशेरा का कहना है कि इस बात के कोई सबूत नहीं है कि सेक्स से बचने से बीमारी की रोकथाम में मदद मिलती है.

बीबीसी की लातिन अमरीकी सेवा को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा, "दरअसल ऐसी जानकारी मिल रही है कि अमरीका के कुछ क्षेत्रों में सेक्स से बचने को बढ़ावा दिए जाने से वहां यौन रोगों और अनचाहे गर्भधारण की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है."

हाल में कैथोलिक चर्च की इस बात के लिए ज़ोरदार आलोचना हुई थी क्यों कि उसकी दलील यह रही है कि एड्स से बचने के लिए सेक्स को टालना एक मात्र तरीका है.

साथ ही बुश प्रशासन की भी यह कह कर आलोचना हुई कि वो कंडोम के इस्तेमाल को तरजीह देने के बजाय सेक्स से बचने की नीति को बढ़ावा दे रहा है.

डॉक्टर टिशेरा जब ब्राज़ील सरकार के एड्स कार्यक्रम के प्रमुख थे तब वो इस प्रकार की टिप्पणियाँ करते रहे हैं.

लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन के अध्यक्ष की हैसियत से उनकी यह टिप्पणियां काफ़ी दो टूक हैं खासतौर पर इसलिए भी क्यों कि विश्व स्वास्थ्य संगठन को सबसे ज्यादा धन का योगदान अमरीका से ही होता है.