अमरीका, यूरोप और अफ्रीका में दिखा विलक्षण सूर्यग्रहण

  • 3 नवंबर 2013

सूर्य ग्रहण
वैज्ञानिकों ने सूर्य ग्रहण को नंगी आंखों से नहीं देखने की चेतावनी दी है.

अफ्रीका के ज़्यादातर हिस्सों और यूरोप और अमरीका के कुछ हिस्सों में एक अनोखा सूर्य ग्रहण दिखा. इस सूर्य ग्रहण के दौरान इन इलाकों में चंद्रमा सूर्य को पूर्ण या आंशिक रूप से ढक लिया.

मध्य अफ्रीका के देश गैबन में भारतीय समय के अनुसार शाम के 7.20 पर मात्र एक मिनट के लिए पूर्ण सूर्य ग्रहण दिखा था.

इसके बाद पूर्ण ग्रहण ने पूर्वी तरफ बढ़ते हुए पूरे अफ्रीकी महाद्वीप को आच्छादित कर लिया. आंशिक ग्रहण को उत्तरी अमरीका और दक्षिणी यूरोप से भी देखा गया.

विशेषज्ञों ने चेतावनी जारी की थी कि कोई भी व्यक्ति

सूर्य ग्रहण को नंगी आंखों से न देखे.

सूर्य ग्रहण को वेल्डर्स ग्लास या पिनहोल ग्लास से सहारे सुरक्षित रूप से देखा जा सकता है.

यह ग्रहण अपने आप में अनोखा था क्योंकि इसमें वलयाकार ग्रहण और पूर्ण ग्रहण का मिलाजुला रूप था.

मिलाजुला ग्रहण

सूर्य ग्रहण, अफ्रीका
मध्य अफ्रीकी देश गैबन में एक मिनट तक पूर्ण सूर्य ग्रहण देखा जा सकेगा.

पूर्ण ग्रहण में चंद्रमा सूर्य को पूरी तरह ढंक लेता है.

वलयाकार सूर्य ग्रहण में चंद्रमा सूर्य को पूरी तरह नहीं ढंकता है और सूर्य के ऊपर एक वलय के आकार में सूर्य का प्रकाश दिखता रहता है.

नासा के अनुसार यह सूर्य ग्रहण फ्लोरिडा से 1000 किलोमीटर पूर्व में सूर्योदय के समय शुरू हुआ. यहाँ चार सेकेंड के लिए आंशिक सूर्य ग्रहण देखा गया.

चंद्रमा की छाया के पूर्व की तरफ बढ़ने के बाद पूर्ण सूर्य ग्रहण हुआ.

सबसे बड़ा पूर्ण सूर्य ग्रहण अटलांटिक महासागर में लाइबीरिया से 330 किलोमीटर दूर, भारतीय समय के अनुसार शाम 6.17 पर एक मीनट से ज्यादा समय के लिए दिखा.

धरती पर पूर्णसूर्य ग्रहण सबसे देर तक गैबन में रहा.

इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन के अनुसार, "यह सूर्य ग्रहण कांगो, उत्तरी यूगांडा, उत्तरी केन्या से गुजरते हुए दक्षिणी इथियोपिया और सोमालिया में ख़त्म हुआ."

आंशिक सूर्य ग्रहण को पूर्वी उत्तरी अमरीका, उत्तरी दक्षिणी अमरीका, दक्षिणी यूरोप और मध्य-पूर्व और अफ्रीका से देखा गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार