BBC navigation

सेक्स के लिए भेंट देते हैं जुगनू

 सोमवार, 9 जुलाई, 2012 को 13:46 IST तक के समाचार
जुगनू

अपने लिए प्रेमिका की तलाश कर रहे एक जुगनू का काम महज़ अपना बदन चमकाने भर से नहीं हो जाता. वैज्ञानिकों के अनुसार उसे मादा जुगनू को भेंट भी देना पड़ता है.

प्रणय निवेदन कर रहा जुगनू मादा को एक ऐसी थैली देता है जिसमे उसके शुक्राणु और कुछ ख़ास ताकत देने वाला आहार भी होता है.

अमरीका के बोस्टन में मौजूद टफ्ट्स विश्विद्यालय के शोधकर्ताओं ने पाया कि मादा जुगनू भी उन नरों को पसंद करतीं हैं जो उन्हें सबसे बढ़िया और बड़ी थैली भेंट कर सकें.

वैज्ञानिकों ने अपने इस शोध को कनाडा के ओटावा में क्रमिक विकास की पहली संयुक्त कांग्रेस में रखा.

वैज्ञानिक डॉ एडम साउथ ने एलईडी बल्बों से ठीक उसी तरह की रोशनी पैदा की जिस तरह की प्रणय निवेदन करते वक़्त नर जुगनू करते हैं.

उन्होंने मादा जुगनुओं के एक समूह को आकर्षक नर जुगनुओं की तरह दिखने वाली रोशनी की चमक दिखाई और दूसरे समूह को "अनाकर्षक" चमक दिखाई.

प्राकृतिक वातावरण में मादा जुगनू नर जुगनुओं के सामने आने में बहुत ही सावधानी बरतती हैं. मादा जुगनू केवल उन्ही नर जुगनुओं के लिए चमकती हैं जिनमें उनकी रूचि होती है.

वैज्ञानिकों इस प्रयोग के दौरान कई मिनटों के चमक सत्र के बाद नर और मादाओं को अलग अलग कक्षों में बंद कर उनके व्यवहार को देखा. दरअसल वैज्ञानिक इन्फ्रारेड कैमरों की मदद से यह देखना चाहते थे कि जब जुगनू चमकना बंद कर देते हैं तो उसके बाद अँधेरे में क्या होता है.

नए सवाल

फिल्मों के ज़रिये पता चला कि मादाएं उन नारों के प्रणय निवेदन को स्वीकार करने में अधिक इच्छुक होती हैं जिनके पास देने के लिए बड़ी थैली होती है.

नर और मादा एक बार जब एक बार जब साथ आ जाते हैं तो फिर उसके बाद इस बात से कोई फ़र्क नहीं पड़ता कि कौन कैसे और कितना बेहतर चमकता है.

वैज्ञानिकों के अनुसार नर जुगनुओं की चमकने की क्षमता का लाभ उन्हें केवल शुरुआती प्रयासों में ही होता है.

इस जानकारी ने वैज्ञनिकों के लिए एक नई समस्या खडी कर दी है.

अब वैज्ञानिकों को यह नहीं समझ में आ रहा है कि मादा जुगनू बड़ी थाली का उपयोग किस तरह से करती हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.