BBC navigation

अब गूगल का टैबलेट और चश्मा

 गुरुवार, 28 जून, 2012 को 04:08 IST तक के समाचार

माइक्रोसॉफ्ट के टैबलेट सरफ़ेस के एक हफ्ते बाद लॉन्च हुआ गूगल का टैबलेट.

गूगल ने अपने पहले टैबलेट लॉन्च के साथ अपने ग्लास प्रोजेक्ट को भी दुनिया के सामने प्रदर्शित किया.

गूगल के टैबलेट का नाम है नेक्सस 7.

इस टैबलेट का निर्माण गूगल की अपनी मोटोरोला की बजाए ताइवान की कंपनी एसस ने किया है.

इस टैबलेट में एंड्रॉएड के नए जेली बीन संस्करण का इस्तेमाल किया गया है.

नेक्सस 7 टैबलेट की मध्य जुलाई से बाजार में बिक्री की जाएगी और इसकी कीमत रखी गई है 199 डॉलर.

गूगल ने इसे सीधे तौर पर आमेजन के किंडल फायर से मुकाबले के लिए बाजार में उतारा है.

नेक्सस 7 का स्क्रीन सात इंच का है जो कि एप्पल के सबसे ज्यादा बिकने वाले टैबलेट आईपैड से छोटा है और
इसका वज़न 340 ग्राम है जिसे पकड़ने में भी काफी आसानी होती है.

"पिछले हफ्ते माइक्रोसॉफ्ट के टैबलेट के बाद गूगल के टैबलेट का आना इस बात का सबूत है कि ये कंपनियां टैबलेट के मजबूत बाजार में अपनी पकड़ मजबूत करना चाहती हैं"

ट्यूडर डब्ल्यू

इसमें गूगल का क्रोम ब्राउज़र डिफॉल्ट ऑप्शन के रूप में मौजूद है और ऐसा करनेवाला ये एंड्रॉएड का पहला डिवाइस है.

इस टैबलेट को हासिल करनेवाले कुछ पहले देश होंगे अमरीका, ब्रिटेन, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया.

टैबलेट बाज़ार

गूगल के टैबलेट की खबर माइक्रोसॉफ्ट के टैबलेट सरफ़ेस के लॉन्च के ठीक एक हफ्ते बाद आई है.

केपीएमजी यूरोप के तकनीकी सेक्टर प्रमुख ट्यूडर एडब्ल्यू कहते हैं, "पिछले हफ्ते माइक्रोसॉफ्ट के टैबलेट के बाद गूगल के टैबलेट का आना इस बात का सबूत है कि ये कंपनियां टैबलेट के मजबूत बाजार में अपनी पकड़ मजबूत करना चाहती हैं."

नेक्सस क्यू

गूगल ने अपने एक और उत्पाद नेक्सस क्यू का भी अनावरण किया है.

ये उपकरण एंड्रॉएड से संचालित एक छोटा कंप्यूटर है जिसका अपना कोई स्क्रीन नहीं है.

इसे स्वतंत्र रूप से इस्तेमाल किए जाने की बजाए स्टीरियो या टेलिविजन में लगाने की जरूरत होगी.

गूगल कॉन्फ्रेंस में ग्लास प्रोजेक्ट की लाइव फीड भी दिखाई गई.

ये दूसरे उपकरणों से संगीत और वीडियो की स्ट्रीमिंग कर सकता है और मीडिया फाइलों को चला सकता है.
कंपनी का कहना है कि ये विश्व का पहला सोशल स्ट्रीमिंग उपकरण है.

गूगल का चश्मा

सैनफ्रांसिस्को में हुए गूगल के डेवलपर कॉन्फ्रेंस में कंपनी के सह संस्थापक सर्गेई ब्रिन ने गूगल के ग्लास प्रोजेक्ट को भी मंच पर प्रदर्शित किया.

इंटरनेट से जुड़ा गूगल का ये चमत्कारी चश्मा अभी विकासावस्था में है.

ग्लास प्रोजेक्ट का डेमो प्रदर्शित करने की जगह सर्गेई ब्रिन ने चश्मे से ली गई वो लाइव फीड दिखाई जिसे कंपनी के कर्मचारियों ने सैनफ्रांसिस्को के ऊपर उड़ान भर रहे विमान पर पहन रखी थी और नीचे का दृश्य साफ नजर आ रहा था.

सर्गेई ब्रिन ने बताया कि गूगल ग्लास का एक्सप्लोरर एडीशन अगले साल अमरीकी बाजार में आएगा और इसकी कीमत होगी 1500 अमरीकी डॉलर.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.