कैल्शियम की दवा से पड़ सकता है दिल का दौरा

 शुक्रवार, 25 मई, 2012 को 10:38 IST तक के समाचार

अच्छी सेहत और मजबूत हड्डियों के लिए कैल्शियम लेना कितना जरूरी है ये सब जानते हैं. अकसर लोग अतिरिक्त कैल्शियम के लिए अलग से दवा भी लेते हैं.

लेकिन जर्मनी में कुछ शोधकर्ताओं का कहना है कि जो लोग कैल्शियम के लिए अलग से दवा लेते हैं उन्हें दिल का दौरा पड़ने का ज्यादा खतरा होता है.

हार्ट नाम की पत्रिका में निकले शोध में कहा है कि कैल्शियम सप्लीमेंट सावधानी से लेने चाहिए.

विशेषज्ञों का मानना है कि इसके बजाए संतुलित आहार खाना बेहतर तरीका होगा खासकर जिसमें कैल्शियम शामिल हो.

जर्मन कैंसर रिसर्च सेंटर के शोधकर्ताओं ने एक दशक से भी ज्यादा समय तक 23980 लोगों का अध्ययन किया है.

उन्होंने अतिरिक्त कैल्शियम दवा लेने वाले ऐसे लोगों में दिल का दौरा पड़ने की घटनाओं की तुलना उन लोगों से की है जो ये दवाएँ नहीं लेते.

संतुलित आहार लें

जिन लोगों ने कोई सप्लीमेंट नहीं लिया उन 15959 लोगों में से 851 को हार्ट अटैक हुआ. लेकिन अध्ययन के दौरान पाया गया कि कैल्शियम के लिए दवा लेने वाले लोगों में दिल का दौरा पड़ने के आसार 86 फीसदी ज्यादा हैं.

वहीं द हेल्थ सप्लीमेंट इनफोरमेशन सर्विस के डॉक्टर केरी रक्सटन कहते हैं, “महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस बड़ी समस्या है. ये गैर जिम्मेदारना है कि एक सर्वे के आधार पर डॉक्टर महिलाओं से कहें कि वे अतिरिक्त कैल्शियम न लें. खासकर तब जब कैल्शियम, विटामिन डी और हड्डियों के बीच संबंध को यूरोपीय खाद्य सुरक्षा अथॉरिटी भी मानती है.”

ब्रिटिश हार्ट फाउंडेशन में वरिष्ठ नर्स नताशा स्टीवर्ट कहती हैं कि नया शोध ये संकेत देता है कि कैल्शियम सप्लीमेंट लेने वालों में दिल का दौरा पड़ने के आसार ज्यादा हो सकते हैं लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि इन्हीं के कारण दिल का दौरा पड़ता है.

वे मानती हैं कि इस बारे में और शोध करने की जररूत है.

वहीं ब्रिटेन के स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता ने कहा है कि ज्यादातर लोगों को कैल्शियम की दवा लेने की जरूरत नहीं होती अगर वे संतुलित भोजन खाएँ जिसमें दूध, डेयरी उत्पाद शामिल हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.