BBC navigation

बच्चों के मोबाइल फोन पर रख सकेंगे निगरानी

 मंगलवार, 22 मई, 2012 को 04:22 IST तक के समाचार

अभिभावक बच्चों के एसएमएस पढ़ पाएंगे

अभिभावक अपने बच्चों के मोबाइल फोन पर एक सिम कार्ड के जरिए नियंत्रण रख पाएंगे.

वोडाफोन के नेटवर्क के लिए बेमिलो सिस्टम नाम की इस सेवा की मदद से मां-बाप बच्चों को ऑनलाइन होने से रोक सकेंगे. साथ ही किसी निर्धारित समय पर वो उन्हें एसएमएस मेसेज भेजने और कॉल करने पर रोक भी लगा सकेंगे.

साथ ही बच्चे इस सेवा को बंद नहीं कर सकेंगे. इंग्लैंड में परिवार से जुड़ी एक संस्था का कहना है कि इस सिम कार्ड से बच्चों को डराने-धमकाने या तंग करने वाले कॉल और मेसेज पर रोक लगाई जा सकेगी. यह सिम कार्ड कम्पयूटर के जरिए काम करता है.

सेफ्टी पैक

इस सेवा को इंग्लैंड में शुरु किया गया है. सेवा लेने के लिए अभिभावकों को एक सेफ्टी पैक खरीदना होगा जिसके अंदर सिम कार्ड होगा. इस सिम को बच्चों के मोबाईल फोन पर डाला डाएगा और इसके लिए कम से कम 2.95 पाउंड हर महीने खर्च करने पड़ेंगे.

"मां-बाप किसी के कॉल को अनुमति दे सकते हैं और जिन्हें वो नहीं चाहते कि वो उनके बच्चों से बात करें ऐसी कॉल पर रोक भी लगा सकते हैं."

बेमिलो के संस्थापक और चेयरमैन साइनल गॉफ

बेमिलो के संस्थापक और चेयरमैन साइनल गॉफ ने बीबीसी से कहा, "यह किसी भी सामान्य सिम की तरह ही है लेकिन इससे मां-बाप को बच्चों की सुरक्षा के लिहाज से पूरा नियंत्रण मिलता है. मां-बाप किसी के कॉल को अनुमति दे सकते हैं और जिन्हें वो नहीं चाहते कि वो उनके बच्चों से बात करें ऐसी कॉल पर रोक भी लगा सकते हैं."

अगर अभिभावक चाहते हैं कि स्कूल के समय बच्चे फोन पर व्यस्त न हो तो वो कम्प्यूटर में लॉग करके बच्चों के फोन को दूर से ही बंद कर सकते हैं.

वो बच्चों के मेसेज भी पढ़ सकते हैं.

रोक

ब्रिटेन की एक रिपोर्ट के मुताबिक वहां कम उम्र की लड़कियों पर दबाव बढ़ता जा रहा है कि वो अपनी अश्लील तस्वीरें मेल करें या टेक्स्ट करें.

बेमिलो के एक 2000 मां-बाप पर कराए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार आठ वर्ष से 16 वर्ष के उम्र तक के 40 फीसदी बच्चे कभी न कभी मोबाईल पर धौंस का शिकार हुए हैं.

लेकिन इस नई तकनीक से मां-बाप बच्चों के फोन पर नजर रख पाएंगे.

साथ ही ये सेवा बच्चों को वयस्कों के वेबसाइट पर जाने से भी रोक सकता है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.