BBC navigation

मुसलमानों का गुस्सा 'ठंडा' करते ओबामा के ऐड

 शुक्रवार, 21 सितंबर, 2012 को 04:02 IST तक के समाचार
पाकिस्तान में विरोध

मुस्लिम देशों में जारी उग्र प्रदर्शनों के बीच पाकिस्तान में टीवी चैनलों पर ऐसे विज्ञापन दिखाए जा रहे हैं जिनमें अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा अपने देश में बनी इस्लाम विरोधी फिल्म की निंदा कर रहे हैं.

इन विज्ञापनों में अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के उस बयान को भी दिखाया गया है जिसमें वो फिल्म में दिए गए संदेश को खारिज कर रही हैं.

'इंनोसेंस ऑफ मुस्लिम' नाम की इस फिल्म में पैगंबर मोहम्मद का मजाक उड़ाया गया है. इसके विरोध में मुस्लिम देशों में होने वाले उग्र प्रदर्शनों में कई लोगों की जानें जा चुकी हैं.

इस्लामाबाद में गुरुवार को भी अमरीकी दूतावास के सामने प्रदर्शन हुए, जो उग्र हो गए थे लेकिन बाद में शांतिपूर्ण तरीके से खत्म हुए.

विरोध दिवस

पाकिस्तानी टीवी चैनलों पर दिखाए जा रहे विज्ञापनों पर अमरीका ने 70 हजार डॉलर खर्च किए हैं. इनमें वही बातें कही गई हैं जिन्हें अमरीकी अधिकारी बार बार इस संकट के दौरान दोहराते रहे हैं कि ये “घिनौनी” फिल्म अमरीकी सरकार की ओर से नहीं बनाई है, लेकिन इसे लेकर हो रही हिंसा को भी उचित नहीं ठहराया जा सकता.

वैसे समाचार एजेंसी एपी की खबर के अनुसार अमरीकी दूतावास ने इन विज्ञापनों के लिए पैसा मुहैया कराने की न तो पुष्टि की है और न ही खंडन. दूतावास ने इन विज्ञापनों को 'सार्वनजिक सेवा घोषणा' बताया है.

उधर पाकिस्तान सरकार ने शुक्रवार को देश में छुट्टी का एलान किया है ताकि अमरीका में बनी इस्लाम विरोधी फिल्म के खिलाफ शांतिपूर्वक विरोध जताया जा सके.

सरकार ने इसे 'पैगंबर मोहम्मद के प्रति प्यार के इजहार' का दिवस बताया है. पाकिस्तान की सत्ताधारी पीपल्स पार्टी भी इस विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेगी.

मुसलमानों का विरोध

मुस्लिम देशों में अमरीका और पश्चिम देशों के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं.

इस फिल्म ने पाकिस्तान में अमरीका विरोधी भावनाओं को भड़का दिया है.

अमरीका विरोधी भावनाएं प्रबल

गुरुवार को इस्लामाबाद में अमरीकी दूतावास के बाहर हुए प्रदर्शनों के दौरान हजारों लोगों की भीड़ को तितर बितर करने के लिए प्रशासन को सेना बुलानी पड़ी.

प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति बराक ओबामा का पुतला जलाया और पुलिस पर पथराव भी किया.

अमरीका ने अपने नागरिकों को सख्त हिदायत दी है कि अगर जरूरी न हो तो वो पाकिस्तान का दौरा करने से बचें.

अमरीकी विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान में मौजूद अपने नागरिकों से कहा है कि वे प्रदर्शनों वाली जगहों और भीड़भाड़ वाली जगहों पर न जाएं.

लीबियाई शहर बेनगाजी में 11 सितंबर को इस फिल्म के विरोध में हुए हमले के दौरान अमरीकी राजदूत क्रिस्टोफर स्टीवेंस और तीन अन्य अमरीकी नागरिकों की मौत हो गई थी.

इस मुद्दे पर जारी तनाव बुधवार को एक फ्रांसीसी पत्रिका में मोहम्मद के आपत्तिजनक कार्टून छपने के बाद और गहरा गया है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.