BBC navigation

अमरीका ने फिर लगाए पाकिस्तान पर आरोप

 शनिवार, 24 सितंबर, 2011 को 01:44 IST तक के समाचार

हिना रब्बानी के बयान के बावजूद अमरीका ने पाकिस्तान को आड़े हाथों लिया है.

अमरीका ने पाकिस्तान की आलोचना और तेज़ करते हुए कहा है कि पाकिस्तान एक चरमपंथी गुट को अपनी ज़मीन पर सुरक्षित जगह दे रहा है.

व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जे कार्नी ने कहा कि पाकिस्तान को हक्कानी नेटवर्क के साथ अपने संबंध तोड़ने होंगे.

कार्नी का कहना था कि पाकिस्तान ने एक चरमपंथी नेटवर्क को अपनी ज़मीन पर पनाह दी है जहां से वो हमले कर रहा है.

उल्लेखनीय है कि काबुल में पिछले दिनों अमरीकी दूतावास पर हुए हमले के लिए अमरीका हक्कानी नेटवर्क को दोषी मानता है.

पिछले दिनों अमरीका के शीर्ष सैन्य अधिकर माइक मलेन ने कहा था कि आईएसआई हक्कानी नेटवर्क की मदद कर रहा है.

इस बीच पाकिस्तान-अफ़गानिस्तान सीमा पर अमरीका ड्रोन हमले में तीन चरमपंथी मारे गए हैं.

अमरीका का यह आरोप ऐसे समय में आया है जब कुछ ही घंटों पहले संयुक्त राष्ट्र महासभा में शिरकत करने आईं पाकिस्तान की विदेश मंत्री हिना रब्बानी खर
ने चेतावनी दी है कि अगर वह सार्वजानिक रुप से पाकिस्तान पर आरोप लगाता रहेगा तो वह एक साथी खो सकता है.

उन्होंने न्यूयॉर्क में पाकिस्तानी टीवी चैनल जियो न्यूज़ से बातचीत करते हुए कहा, "आप पाकिस्तान को और पाकिस्तानी जनता को अलग-थलग करना गवारा नहीं कर सकते. अगर आपने ऐसा किया तो यह आपकी अपनी ज़िम्मेदारी होगी."

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को सार्वजानिक रुप से अपमानित करना कभी भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

संयुक्त राष्ट्र की महासभा में पाकिस्तान का नेतृत्व करने पहुँचीं हिना रब्बानी खर ने अमरीका की ओर पाकिस्तान पर लगाए गए सभी आरोपों को रद्द कर दिया है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.