पाक में ड्रोन हमला, 15 की मौत

ड्रोन

क़बायली इलाक़ों में पिछले कई सालों से ड्रोम हमले किए जा रहे हैं.

पाकिस्तान के क़बायली इलाक़े उत्तर वज़ीरिस्तान में अमरीकी मानवराहिक विमान के हमले में 15 लोग मारे हैं.

स्थानीय प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि यह हमला तालुक़ा दत्ताख़ेल के इलाक़े शवाल में हुआ.

अधिकारी ने बताया कि अमरीकी ड्रोन विमानों ने चरमपंथियों के एक ठिकाने को निशाना बनाया और पांच मीसाईल फ़ायर किए.

हमले से चरमपंथियों का ठिकाना पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया.

अधिकारी ने ड्रोन विमानों के हमले में 15 चरमपंथियों के मारे जाने की पुष्टि की है और मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई है.

ग़ौरतलब है कि क़बायली इलाक़ों विशेषकर वज़ीरिस्तान में अमरीकी ड्रोन हमलों में अचानक तेज़ी देखने में आई है और पिछले पांच दिनों के दौरान यह पाँचवा हमला है.

इलियास कश्मीरी की मौत

इससे पहले दक्षिणी वज़ीरिस्तान में हुए एक अमरीकी ड्रोन हमले में मुंबई हमलों में 'शामिल' और अल-क़ायदा के क़रीबी चरमपंथी नेता इलियास कश्मीरी की मौत हो गई थी.

वर्ष 2009 के अंत में भी उनके मारे जाने की ख़बर आई थी. लेकिन वो ग़लत साबित हुई थी.

इलियास कश्मीरी को पिछले महीने पाकिस्तान के कराची में मेहरान नौसेना अड्डे पर हुए हमले का 'मास्टर माईंड' क़रार दिया जाता है.

अमरीकी विदेश मंत्रालय, हरकतुल जेहाद अल इस्लामी को भारत, पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान में हुए कई चरमपंथी हमलों का ज़िम्मेदार समझता है जिसमें 2006 में कराची में अमरीकी वाणिज्य दूतावास पर हमला भी शामिल है.

अमरीका ने उनका पता बताने वाले को 50 लाख डालर इनाम देने की घोषणा की थी.

इतने दूरगामी इलाक़े में इलियास कश्मीरी का मारा जाना पाकिस्तान और अमरीकी गुप्तचर एजेंसियों के बीच प्रभावी सहयोग का सबूत है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.