आईएसआई कर रहा है तालिबान की मदद: रिपोर्ट

तालिबान

एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान और पाकिस्तान की गुप्तचर संस्था आईएसआई के सीधे संबंध हैं.

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि 'आईएसआई तालिबान को धन और प्रशिक्षण उपलब्ध कराती है और उन्हें पनाह देती है.'

इसमें कहा गया है कि संबंधों के बारे में जितना सोचा जा रहा था, ये उससे कहीं अधिक गहरे हैं.

ये रिपोर्ट लंदन स्कूल ऑफ़ इकॉनोमिक्स ने तैयार की है और इसके मुख्य लेखक मैट वॉल्डमैन हैं.

हालांकि पाकिस्तानी सेना के एक प्रवक्ता ने इस दावे को ठुकरा दिया है और कहा है कि ये उनके देश को बदनाम करने के अभियान का एक हिस्सा है.

यह पाकिस्तान की सेना और सुरक्षा एजेंसियों के ख़िलाफ़ दुष्प्रचार अभियान का हिस्सा है.

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता

इस रिपोर्ट को तैयार करने वाले मैट वॉल्डमैन ने इस साल अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के नौ कमांडरों से बात की.

उनका निष्कर्ष है कि पाकिस्तान के तालिबान से संबंध जितने सोचे जाते हैं, उससे कहीं अधिक गहरे हैं.

जिन तालिबान नेताओं से बात की गई, उनमें से कुछ ने यहाँ तक कहा कि आईएसआई के लोग तालिबान की सुप्रीम काउंसिल की बैठक में हिस्सा लेते हैं.

उनका दावा है कि ऐसा कर आईएसआई अफ़ग़ानिस्तान में भारत के प्रभाव को कम करना चाहती है.

रिपोर्ट का निष्कर्ष है कि पाकिस्तान के रवैये में बदलाव के बिना अफ़ग़ानिस्तान की सरकार और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए अफ़ग़ानिस्तान में चरमपंथ को दबाना असंभव होगा.

इधर पाकिस्तान के सैन्य प्रवक्ता ने इन दावों को फ़िजूल बताया है और कहा है कि यह पाकिस्तान की सेना और सुरक्षा एजेंसियों के ख़िलाफ़ दुष्प्रचार अभियान का हिस्सा है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.