BBC navigation

क्षेत्रीय मामलों में दखल न दे अमरीका: चीन

 बुधवार, 5 सितंबर, 2012 को 02:40 IST तक के समाचार

हिलेरी क्लिंटन दो दिन की चीन यात्रा पर हैं

अमरीका की विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के दो दिवसीय चीन दौरे से ठीक पहले चीन ने अमरीका से क्षेत्रीय विवादों में हस्तक्षेप न करने की अपील की है.

इंडोनेशिया में दक्षिण चीनी समुद्र को लेकर चल रहे क्षेत्रीय विवाद पर वार्ता के बाद हिलेरी क्लिंटन मंगलवार को चीन पहुंचीं.

इंडोनेशिया में उन्होंने क्षेत्रीय संगठन आसियान से इस मुद्दे पर एक संयुक्त मोर्चा बनाने की अपील की.

उम्मीद है कि चीनी अधिकारियों के साथ हिलेरी क्लिंटन सीरिया, ईरान और उत्तर कोरिया के मु्द्दे पर भी चर्चा करेंगी.

हिलेरी क्लिंटन मंगलवार को देर शाम चीन पहुंचीं और बुधवार को उनकी कई वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात होनी है.

चीन के बाद हिलेरी क्लिंटन पूर्वी तिमोर और ब्रुनेई की यात्रा करेंगी. ग्यारह दिवसीय इस यात्रा का उनका अंतिम पड़ाव रूस में होगा जहां वो एपेक फोरम की अध्यक्षता करेंगी.

क्षेत्रीय विवाद

हिलेरी क्लिंटन की यात्रा से ठीक पहले चीनी विदेश मंत्रालय ने उम्मीद जताई थी कि दक्षिणी चीन समुद्र के मामले में अमरीका में अपनी पुरानी स्थिति पर कायम रहेगा.

"हमें उम्मीद है कि अमरीका अपने रुख पर कायम रहेगा और क्षेत्रीय शांति और स्थिरता बनाने की कोशिश करेगा न कि उसे नुकसान पहुंचाने की."

हॉन्ग ली, चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हान्ग ली के मुताबिक, “हमें उम्मीद है कि अमरीका अपने रुख पर कायम रहेगा और क्षेत्रीय शांति और स्थिरता बनाने की कोशिश करेगा न कि उसे नुकसान पहुंचाने की.”

दक्षिण समुद्री चीन में चीन का तीन आसियान देशों के साथ क्षेत्रीय विवाद चल रहा है.

इस बीच, चीन के एक समाचार पत्र ने हिलेरी क्लिंटन की इस बात के लिए आलोचना की है कि वो दोनों देशों के बीच गलतफहमी पैदा कर रही हैं.

इस साल की शुरुआत में चीन और फिलीपींस के जहाजों को कई हफ्तों तक एक ही ओर रुकना पड़ा था.

मंगलवार को हिलेरी क्लिंटन ने कहा कि इस क्षेत्र में शांति बहाली, स्थिरता और अंतरराष्ट्रीय कानून का पालन सुनिश्चित करना अमरीका के राष्ट्रीय हित में है.

जुलाई में कंबोडिया में हुए नियमित सम्मेलन में इस क्षेत्र में चल रहे विवादों की वजह से आसियान के 45 साल के इतिहास में पहली बार कोई संयुक्त वक्तव्य जारी नहीं हो सका था.

इस सम्मेलन में वियतनाम और फिलीपींस ने मेजबान कंबोडिया पर आरोप लगाया था कि उसने चीन के दबाव में आकर इस मुद्दे को एजेंडे से बाहर कर दिया था.

चीनी मीडिया

जहां तक चीनी मीडिया का सवाल है तो वो हिलेरी क्लिंटन की यात्रा को लेकर बहुत उत्साहित नहीं है.

सरकारी समाचार एजेंसी शिनहुआ में छपे एक लेख में लिखा हुआ है, “हालांकि अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कहा है कि अमरीका और चीन दोनों को साथ रखने के लिए एशिया प्रशांत काफी बड़ा है, वॉशिंगटन को अभी भी चीन के साथ संबंधों को मजबूत करने के लिए और प्रयास करने की जरूरत है.”

हिलेरी क्लिंटन की दो मई को हुई पिछली यात्रा नेत्रहीन चीनी कार्यकर्ता चेन ग्वांगचेंग को लेकर चले कूटनीतिक संकट की वजह से दब गई थी.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.