राष्ट्रपति चुनाव: ओबामा का मोबाइल डोनेशन अभियान

 शुक्रवार, 24 अगस्त, 2012 को 00:12 IST तक के समाचार
ओबामा

चुनाव आयोग की हरी झंडी के बाद मोबाइल डोनेशन अभियान शुरू हुआ है

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा दोबारा राष्ट्रपति चुने जाने के लिए अपना अभियान शुरू कर चुके हैं. तकनीक, दूरसंचार और डिजिटल युग में ओबामा का अभियान कैसे पीछे रहता.

इसी की ताज़ा कड़ी में ओबामा के चुनाव अभियान के तहत मोबाइल से सहायता राशि लेने की पहल की गई है.

इस पहल के पीछे समाज के ऐसे तबके से सीधे संपर्क बनाना और उनके योगदान को अहमियत देना भी है, जो राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ना चाहते हैं.

चुनाव आयोग से हरी झंडी मिलने के बाद बराक ओबामा के साथ-साथ उनके प्रतिद्वंद्वी मिट रोमनी भी टेक्स्ट मैसेज के माध्यम से सहायता राशि ले सकेंगे.

राजनीतिक विस्तार

ओबामा के चुनाव अभियान से जुड़े मैनेजर जिम मेसीना का कहना है कि टेक्स्ट मैसेज के माध्यम से मिलने वाली सहायता राशि एक बड़े तबके को इस अभियान से जोड़ेगी.

टेलीफ़ोन उपभोक्ता टेक्स्ट मैसेज के माध्यम से एक महीने में 50 डॉलर तक की राशि चुनाव अभियान के लिए भेज सकते हैं. इसके लिए उन्हें 62262 पर अंग्रेज़ी में GIVE टाइप करके भेजना होगा.

अमरीका में मोबाइल सेवा देने वाली कई कंपनियों तुरंत ही ये सेवा शुरू कर रही हैं, जबकि बाक़ी कंपनियाँ भी कुछ दिनों में ये सेवा शुरू कर देंगी.

अमरीका में रेड क्रॉस या अन्य कई चैरिटी संस्थाएँ टेक्स्ट मैसेज के माध्यम से सहायता राशि लेती रही हैं. लेकिन चुनाव अभियान में इसे शुरू करने के लिए राष्ट्रपति ओबामा और उनके प्रतिद्वंद्वी मिट रोमनी के वकीलों ने चुनाव आयोग से गुहार लगाई थी.

वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक डेमोक्रेटिक पार्टी के चुनाव अभियान से जुड़े एक अधिकारी ब्रेट कैपेल का कहना है कि टेक्स्ट मैसेज के माध्यम से सहायता राशि लेना एक धमाकेदार शुरुआत है और इससे हर क्षेत्र में राजनीतिक संसार का विस्तार होगा.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.