ताकतवर महिलाओं में सोनिया मिशेल से आगे

मशहूर अमरीकी पत्रिका फोर्ब्स ने दुनिया की 100 ताकतवर महिलाओं की सूची जारी की है, जिसमें कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी को छठे स्थान पर रखा गया है.

दिलचस्प बात ये है कि इस सूची में सोनिया गांधी को अमरीका की प्रथम महिला मिशेल ओबामा से ज्यादा शक्तिशाली आंका गया है.

2010 में इस फेहरिस्त में सबसे ऊपर रहने वाले मिशेल को इस बार दुनिया की सातवीं सबसे शक्तिशाली महिला बताया गया है.

क्लिक करें भारत की अन्य प्रभावशाली महिलाएँ

दुनिया की 100 सबसे ताकतवर महिलाओं की फेहरिस्त में पहले तीन पायदानों में पिछले साल के मुकाबले कोई बदलाव नहीं दिखता है.

इस बार भी फोर्ब्स ने 2005 से सत्ता में रही जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल को दुनिया की सबसे ताकतवर महिला बताया है .उनके बाद दूसरे स्थान पर अमरीकी विदेशी मंत्री हिलेरी क्लिंटन हैं जबकि तीसरा स्थान इस बार भी ब्राजील की राष्ट्रपति दिल्मा रुसोफ को मिला है.

इस फेहरिस्त में राजनीति, मनोरंजन और तकनीक के क्षेत्रों के अलावा गैर मुनाफे वाली संस्थाओं में अहम पदों पर कार्यरत महिलाओं को जगह दी गई है.

इन महिलाओं को उनके प्रभाव, उनके पास या उनके नियंत्रण में मौजूद धन और मीडिया में उनकी मौजूदगी के आधार पर रैंकिंग दी गई है.

अन्य भारतीय

इस सूची में सोनिया गांधी के अलावा जिन भारतीय और भारतीय मूल की महिलाओं को जगह दी गई है, उनमें पेप्सी की प्रमुख इंदिरा नूई 12वें स्थान पर, आईटी कंपनी सिस्को सिस्टम्स की पद्मश्री वारियर 58वें स्थान पर, आईसीआईसाई बैंक की प्रबंधन निदेशक चंदा कोचर 59वें स्थान पर और बायोकॉन की किरन मजूमदार 80वें पायदान पर हैं.

फोर्ब्स का कहना है कि 27 देशों वाले यूरोपीय संघ की राजनीतिक मैर्केल के इर्द गिर्द ही घूमती है.

यूरोप के मौजूदा कर्ज संकट से निपटने और साझा मद्रा यूरो को बचाने का बहुत हद तक दामोदार भी उन्हीं के कंधों पर है.

सर्वश्रेष्ठ 10 ताकतवर महिलाओं में बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन की मेलिंडा गेट्स को चौथा स्थान, न्यूयॉर्क टाइम्स की कार्यकारी संपादक जिल अब्रासन को पांचवा स्थान, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की अध्यक्ष क्रिस्टीन लागार्द को आठवां स्थान, अमरीका की गृह मंत्री जैनेट नैपोलिताना को नौवां और फेसबुक की मुश्य कार्यकारी अधिकारी शैरिल सैंडबर्ग को दसवां स्थान दिया गया है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.