BBC navigation

ईरान: भूकंप में 250 की मौत, 1300 घायल

 रविवार, 12 अगस्त, 2012 को 01:11 IST तक के समाचार
ईरान

भूकंप की वजह से चार गांव पूरी तरह से तबाह हो गए हैं.

ईरान के उत्तर-पश्चिमी इलाके में शनिवार को एक के बाद एक आए दो जबर्दस्त भूकंपों में कम से कम 250 लोग मारे गए हैं और 1300 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं.

यूएस जियोलॉजिकल सर्विस के मुताबिक, पहले भूकंप की तीव्रता 6.4 आंकी गई जबकि दूसरे की तीव्रता 6.3 मापी गई है.

तबरिज़ और अहार कस्बों में भूकंप के ज़ोरदार झटके महसूस किए गए लेकिन जानमाल का ज़्यादा नुकसान ग्रामीण इलाकों में हुआ है.

खबरों में कहा गया है कि भूकंप की वजह से कई गांवों में टेलीफोन संचार सेवाएं बाधित हो गई हैं जिससे राहत एवं बचाव कार्यों में दिक्कत आ रही है.

क्लिक करें दुनिया के बड़े भूकंपों का इतिहास

तबरिज़ शहर के एक निवासी ने बीबीसी को बताया, ''भूकंप की वजह से लोगों में अफरा-तफरा मच गई. लोग सड़कों की ओर भागे और हर तरफ एम्बुलेंस के सायरन सुनाई दे रहे थे.''

समाचार एजेंसी एपी ने सरकारी टेलीविजन के हवाले से खबर दी है कि पूर्वी अज़रबेजान स्थित हरीस और वरज़ाक़ाब कस्बों में भी जान-माल का नुकसान हुआ है.

अधिकारियों का कहना है कि कम से कम चार गांव पूरी तरह से तबाह हो गए हैं जबकि 60 अन्य गांवों में भी काफी तबाही हुई है.

तेहरान विश्वविद्यालय के भूकंप-विशेषज्ञों के मुताबिक, ये दोनों भूंकप चंद मिनटों के भीतर आए थे.

मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका

"मेरा परिवार बेहद डरा हुआ है. रात का वक्त है लेकिन हम सो नहीं सके. ये भूकंप बड़ा जबर्दस्त था. इसके बाद 10 और झटके महसूस किए गए"

अमीना ज़िया, स्थानीय निवासी

भूकंप प्रभावित इलाकों में राहत और बचाव कर्मियों को भेजा गया है लेकिन अंधेरे की वजह से उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

सरकारी टेलीविजन के मुताबिक, भूकंप का पहला झटका स्थानीय समयानुसार लगभग पांच बजे महसूस किया गया.

अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि राहत और बचावकर्मी मलबे में दबे लोगों की तलाश कर रहे हैं.

ईरान के राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद के कार्यालय से जारी एक बयान में मृतकों के प्रति संवेदना जताई गई है और भूकंप प्रभावित इलाकों में राहत कार्यों में तेजी लाने का आह्वान किया गया है.

अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि भूकंप से तबाह हुए इलाकों के लोग खुले में रहें क्योंकि भूकंप के और झटके आ सकते हैं.

तबरिज़ निवासी अमीना ज़िया ने बीबीसी को बताया, ''मेरा परिवार बेहद डरा हुआ है. रात का वक्त है लेकिन हम सो नहीं सके. ये भूकंप बड़ा जबर्दस्त था. इसके बाद 10 और झटके महसूस किए गए.''

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.