सीरिया को ईरान से सहयोग का वादा

 बुधवार, 8 अगस्त, 2012 को 04:52 IST तक के समाचार
सीरिया-ईरान

ईरान के सुरक्षा प्रमुख ने राष्ट्रपति बशर अल-असद को आश्वासन दिया है कि सीरिया क्षेत्रीय गठबंधन का अहम हिस्सा है जिसे ईरान किसी भी स्थिति में टूटने नहीं देगा.

दमिश्क में एक वार्ता के दौरान, सईद जलीली ने कहा कि सीरिया 'उस गठबंधन का अहम हिस्सा है जो क्षेत्र में आतंकवाद को फैलने से रोकने का प्रयास कर रहा है.'

ये बयान लगभग उस वक़्त आया है जब सीरिया के प्रधानमंत्री रियाद हिजाब पाला बदल विद्रोहियों के साथ चले गए.

सीरियाई टीवी पर राष्ट्रपति असद को जलीली का स्वागत करते हुए दिखाया गया.

असद दो हफ्तों के बीच पहली बार टीवी पर दिखाई दिए.

'दृढ़ संकल्प .. '

सरकारी टीवी के मुताबिक असद ने जलीली से कहा, "सीरिया की जनता और सरकार इस बात के लिए दृढ़ संकल्प है कि वो आतंकवादियों को देश से खदेड़ देंगे और आतंकवाद के खिलाफ़ खुल कर लड़ेंगे."

उन्होंने कहा, "सीरिया में जनता के साथ बातचीत का दौर जारी रहेगा" और "वो विदेशी साजि़श को नाकाम करने में पूरी तरह सक्षम हैं."

टीवी के अनुसार जलीली ने कहा कि क्षेत्रीय गठबंधन को किसी भी हालत में टूटने नहीं दिया जाएगा.

बीबीसी संवाददाता जोनाथन मार्कस का कहना है कि ईरान तुर्की को क्षेत्र में अपना प्रतिद्वन्द्वी मानता है और उसे लग रहा है कि वो वहां अपना रसूख़ बढ़ाना चाहता है. इसलिए ईरान का ये क़दम क्षेत्रीय राजनीति का हिस्सा है.

क्षेत्रीय प्रभाव

दूसरी तरफ़ उसे ये भी लग रहा है कि असद के सत्ता से उखड़ने के बाद इलाक़े में सुन्नीयों का प्रभाव बढ़ेगा.

असद ख़ुद शिया समुदाय से तालुक्क़ रखते हैं.

ईरना ने आरोप लगाया है कि खाड़ी के कुछ मुल्क अमरीका और इसराइल के साथ मिलकर सीरिया के विद्रोहियों को हथियार सप्लाई कर रहे हैं.

ईरान ने कहा है कि वो सीरिया के मामले पर गुरूवार को एक अंतराष्ट्रीय बैठक बुला रहा है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.