उत्तरी कोरिया की दक्षिण कोरियाई मीडिया को धमकी

 सोमवार, 4 जून, 2012 को 13:45 IST तक के समाचार
kim

अपने नेता किम जोंग उंन की आलोचना पर उत्तरी कोरिया ने दक्षिण कोरिया के कुछ रूढ़ीवादी मीडिया संगठनों पर हमला करने की धमकी दी

उत्तरी कोरिया ने अपने नए नेता किम जोंग उन को कथित तौर पर अपमानित करने पर दक्षिण कोरिया के कुछ रूढ़ीवादी मीडिया संगठनों पर हमला करने की धमकी दी है. उत्तरी कोरिया के अनुसार उसकी सेना ने इन संगठनों पर अपने निशाने भी साध लिए हैं.

कोरियन पीपुल्स आर्मी ने कहा कि सेना ने सियोल स्थित चोसन इल्बो का मुख्यालय निशाने पर ले लिया है. साथ ही जूनगांग इल्बो, डोंग ऐ इल्बो अखबारों के अलावा केबीएस, एमबीसी और एसबीसी टेलीविजन स्टेशन भी संभावित हमले के दायरे में हैं.

सेना के अनुसार सीबीएस रेडियो को भी निशाना बनाया जाएगा.

किम बनाम हिटलर

पहली बार उत्तरी कोरिया ने दक्षिण कोरिया पर किसी हमले की योजना को सार्वजनिक किया है.

उत्तरी कोरिया के शहर प्योंगयांग में इन दिनों कोरियन चिल्ड्रन यूनियन का उत्सव चल रहा है.

इसमें 20 हजार बच्चों ने किम के प्रति निष्ठा की शपथ ली. कुछ उत्तरी कोरियाई अखबारों ने इस पूरे कार्यक्रम को किम के लिए समर्थन जुटाने की कवायद बताया.

डोंग ऐ इल्बो अखबार के टीवी चैनल ए ने कोरियन चिल्ड्रन यूनियन के उत्सव पर किम की तुलना हिटलर से की थी.

माफी या हमला

सेना ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ली मंयूग बाक को अंग्रेजी में दी अपनी धमकी भरी सलाह में कहा, “हम यह ली पर छोड़ते हैं कि वो उत्तरी कोरिया को हमला करते देखना चाहते हैं या माफी मांग कर हालात को नियंत्रण में रखते हैं. ”

दक्षिण कोरिया की राजधानी की आबादी एक करोड़ से ज्यादा है. कई मीडिया संगठनों के मुख्यालय वहीं हैं. उत्तरी कोरिया के अनुसार कुछ संगठन उसके हमले के दायरे में हैं.

उत्तरी कोरिया की आधिकारिक समाचार एजेंसी ने सेना के हवाले से कहा, “दक्षिण कोरिया ने हमारी सेना की नाराजगी के सब्र को चुनौती दी है. उत्तरी कोरिया इस रुख का कड़ा जवाब देगा. इस घोषित किए जा चुके युद्ध को हमारा देश अपने ढंग से बिना रहम किए लड़ेगा. ”

लोकतंत्र पर हमला

उधर दक्षिण कोरिया ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि उत्तरी कोरिया उसके मीडिया संगठनों को धमकाना बंद करे.

दक्षिण कोरिया के प्रवक्ता किम हयूंग सक ने कहा कि उत्तर कोरिया की यह धमकी उनके देश की आजादी और लोकतंत्र के खिलाफ भड़काने वाला कदम है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.