सीरिया में हिंसा के बीच अरब लीग की बैठक

 गुरुवार, 29 मार्च, 2012 को 02:18 IST तक के समाचार
हमा

हमा शहर में एक लंबे समय से हिंसा का दौर जारी है.

बगदाद में शांति योजना पर चर्चा के बीच सीरिया में कार्यकर्ताओं का कहना है कि सरकारी फौजों ने हमा के एक शहर पर बमबारी जारी रखी है.

इसी बीच अमरीका ने कहा है कि सीरिया ने एक बार फिर अपने उस वायदे को पूरा नहीं किया है जिसके तहत अरब लीग के विशेष दूत कोफी अन्नान की शांति योजना पर सहमति जताने और उस पर अमल करने की बात कही गई थी.

उधर सीरिया में कार्यकर्ताओं का कहना है कि सरकारी फौजों ने कलात-अल-मादिक में स्थित एक विद्रोही गढ़ पर हमला किया है.

इससे पहले संयुक्त राष्ट्र और अमरीका ने सीरिया से अरब लीग द्वारा प्रस्तावित शांति योजना को स्वीकार करने का आह्वाहन किया था.

शांति योजना

अरब लीग

सीरिया में हिंसा पर विराम देने के लिए बगदाद में अरब लीग की एक बैठक हो रही है.

संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव और अरब लीग के विशेष दूत कोफी अन्नान ने जिस शांति योजना का प्रस्ताव तैयार किया है उसके तहत सभी पक्षों से हिंसा ख़त्म करने का आश्वासन शामिल है.

साथ ही योजना के तहत प्रतिदिन दो घंटे के युद्ध विराम को पालन करने का प्रावधान है जिससे हताहतों तक राहत सामग्री पहुंचाई जा सके.

इस योजना में मीडिया को भी उन इलाकों में दाखिल होने का प्रावधान है जहाँ जहाँ लड़ाई जारी है.

मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र ने कहा था कि सीरिया कि सरकार ने इस शांति योजना पर अपनी सहमति जता दी है.

हालांकि अमरीका विदेश मंत्री हिलैरी क्लिंटन ने सीरिया की इस सहमति पर सावधान प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि बशर अल असद का इस प्रस्ताव को अमल करना ही इसका असल प्रमाण होगा.

इससे पहले सीरिया पर लाए गए प्रस्ताव को संयुक्त राष्ट्र में रूस और चीन दो बार वीटो कर चुके हैं जिसके लिए उनकी कड़ी आलोचना हुई थी.

सीरिया में जारी राजनीतिक हिंसा में अब तक नौ हज़ार से अधिक लोग मारे जा चुके हैं और हिंसा को रोकने की सभी अंतरराष्ट्रीय कोशिशें अब तक नाकाम ही साबित हुई हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.