BBC navigation

मायावती पर बरसीं प्रियंका

 रविवार, 5 फ़रवरी, 2012 को 20:41 IST तक के समाचार

प्रियंका गांधी वाड्रा की सभाओं में भीड़ उमड़ रही है

कांग्रेस की स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी वाड्रा ने रविवार को उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती पर सीधा निशाना साधते हुए मतदाताओं से उनके लिए काम करने वाली सरकार या इमारतों पर करोड़ों रूपए ख़र्च करने वाली सरकार से में से किसी एक को चुनने का आह्वान किया.

उत्तरप्रदेश में रायबरेली के इनहौना ज़िले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रियंका ने कहा कि सरकार कैसी हो, इसका फ़ैसला मतदाताओं को ही करना है.

उन्होंने कहा कि ज़िले में 19 फरवरी को होने वाला चुनाव इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि लोगों को अपने इलाक़े के बारे में ही नहीं सोचना है बल्कि राज्य और देश के बारे में भी सोचना है.

उन्होंने कहा, ''आप लोग नेता पैदा करते हैं, आप सरकार बनाते हैं. जिस नेता में जनता की सेवा करने की भावना नहीं है, जो ये सोचता है कि सत्ता मिलना ख़ुद को आगे बढ़ाने का मौक़ा है, उन्हें केवल आप लोग ही सबक सिखा सकते हैं.''

'सरकारों ने कुछ नहीं किया'

राज्य में पिछले विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी को सबसे ज़्यादा 206 सीटें मिली थीं

प्रियंका गांधी वाड्रा ने आरोप लगाया कि बीते 22 साल में राज्य में जितनी भी सरकारें बनीं, उनमें से किसी ने भी लोगों के लिए काम नहीं किया.

ग़ौरतलब है कि उत्तरप्रदेश में वर्ष 2007 में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को सिर्फ़ 22 सीटें मिली थीं. कांग्रेस ने इस बार उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए राष्ट्रीय लोकदल के साथ गठबंधन किया है.

राष्ट्रीय लोकदल को भी पिछले विधानसभा चुनावों में 17 सीटों से संतोष करना पड़ा था. लेकिन इस बार कांग्रेस को बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है.

बसपा 206 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी जबकि समाजवादी पार्टी 97 सीटों के साथ दूसरे स्थान पर थी. भारतीय जनता पार्टी को 51 सीटें मिली थीं.

उत्तरप्रदेश में कांग्रेस के प्रचार की कमान संभाल रहे राहुल गांधी ने हाल ही में कहा है कि उनकी पार्टी राज्य में चुनाव के बाद किसी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं करेगी.

राहुल के इस बयान से चुनाव बाद कांग्रेस के समाजवादी पार्टी के साथ गठजोड़ करने की अटकलों पर भी विराम लग गया है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.