चीन का नया माओवादी नेता !

एक तरफ चीन में सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी अपनी स्थापना के 90 साल पूरे होने का जश्न मना रही है दूसरी तरफ पार्टी के अंदर सत्ता के नए उत्तराधिकारियों के लिए राजनीति चरम पर है.

चीन के बाहर दुनिया के लिए राष्ट्रपति हू जिंताओ और प्रधानमंत्री वेन जिआबाओ के उत्तराधिकारियों के नाम पर बस दो ही चेहरे हैं. उपराष्ट्रपति ज़ी जिंगपिंग और उप प्रधानमंत्री ली केकियांग.

लेकिन एक तीसरा चेहरा तेज़ी से उभर रहा है और ये आदमी महज़ सत्ता के समीकरणों से ज़्यादा चीज़ों में बदलाव लाने के काबिल भी माना जा रहा है.

चुंग चिंग शहर के पार्टी सचिव बॉ शी लाई को उनके तीखे तेवरों और अनोखे अंदाज़ के लिए चीन में "नए वामपंथी" के रूप में देखा जा रहा है. करीब साठ साल के कॉमरेड लाई माओ के ज़माने के एक सम्यक समाज की स्थापना की बात कर रहे हैं.

चीन के आम लोगों में तेज़ी से लोकप्रिय हो रहे लाई, अमीरों और गरीबों के बीच की खाई को पाटने की बात खुल कर कह रहे हैं, भ्रष्टाचार से लड़ रहे हैं और शहरों में कम कीमत के घर बना रहे हैं.

लाई ने कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ताओं को किसानों के साथ समय बिताने के लिए गावों में भी भेजा है.

शिखर पर नज़र

लाई के कारनामों पर बीजिंग में बैठे सर्वोच्च नेताओं की नज़र भी पड़ रही है. ऐसा माना जा रहा है कि लाई को चीन की नौ सदस्यीय सर्वोच्च शासन समिति में लिया जा सकता है. साल 2012 में चीन के 18वीं पार्टी कॉंग्रेस में इस निर्णय को लिया जाएगा.

साल 2012 में इस समिति के नौ में से सात सदस्य रिटायर हो रहे हैं उनकी जगह नए लोगों को लिया जाना है.

लाई के पिता का नाम बॉ-यिबो था जो चीन में कम्युनिस्ट पार्टी के "आठ अमर" नेताओं में से एक हैं.

चीन में बैठे विदेशी कूटनयिकों और व्यापार जगत के पुरोधाओं की नज़रें भी लाई पर हैं. वो संकेत तलाश रहे हैं कि क्या लाई चीन की मुक्त बाज़ार की नीतियों को बदलने का प्रयास करेगें.

लाई को जानने वाले कहते हैं कि वो कोई आमूल चूल परिवर्तन नहीं लाएंगें क्योंकि वो चीन के वाणिज्य मंत्री रह चुके हैं और इन नीतियों का हिस्सा भी रहे हैं.

पर कॉमरेड लाई का राजनीति करने का अंदाज़ चीन के परंपरागत राजनेताओं से एकदम भिन्न है. चीनी वामपंथी पार्टी के नेता आम तौर पर पर्दों के पीछे बंद कमरों में राजनीति करते हैं लेकिन लाई खुल कर बात करते हैं और प्रचार के माध्यमों का इस्तेमाल अपनी बात को कहने का इस्तेमाल करते हैं.

कई लोग उन्हें चीन का व्लादीमीर पुतिन भी कहते हैं.

अपराध विरोधी

दिखने में आकर्षक लाई हमेशा से लोकप्रिय रहे हैं लेकिन चुंग चिंग में संगठित अपराध के खिलाफ़ उनकी मुहीम के बाद वो किसी फ़िल्मी सितारे की तरह लोकप्रिय हो गए हैं.

लाई अपराध के खिलाफ़ लगातार और निर्णायक ढंग से लड़ रहे हैं. साल 2009 के बाद से उनके अभियान के चलते करीब 2000 लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है.

यूँ तो ये कोई बड़ी संख्या नहीं है लेकिन जो लोग गिरफ़्तार हुए हैं उनमे अपराधी तो हैं ही कई सरकारी अधिकारी भी हैं हैं जो लाई के प्रशासन में काम करते थे. लाई का ये अभियान अपनी तरह का चीन में सबसे बड़ा अभियान है.

बॉ शी लाई

आकर्षक व्यक्तित्व वाले लाई को कुछ लोग चीन का व्लादीमीर पुतिन भी कहते हैं

उंचा खानदान

लाई के पिता का नाम बॉ-यिबो था जो चीन में कम्युनिस्ट पार्टी के "आठ अमर" नेताओं में से एक हैं. चीन में लाई का दर्ज़ा एक तरह से एक राजकुमार का है.

साल 1949 की माओवादी क्रांति के क्रांतिकारियों के बच्चों में से एक देश के उपराष्ट्रपति ज़ी जिनपिंग भी हैं. इन रसूखदार खानदान के बच्चों को जनता के साथ उनके जुड़ाव के लिए नहीं जाना जाता पर कॉमरेड लाई इसके विपरीत हैं.

हू जिंताओं, वेन जिआबाओ और पोलित ब्यूरो के अन्य सदस्यों ने हमेशा बंद कमरों के भीतर चीन के सवा अरब लोगों के भविष्य के फैसले लिए हैं. लाई के राजनीति करने के तौर तरीके जाहिराना तौर पर बड़े नेताओं के तरीकों से भिन्न हैं.

चीन में माओ के व्यक्ति पूजा से जले बैठे नेता किसी भी ऐसे नेता से आशंकित हो जाते हैं जो लोगों के बीच बहुत ही ज़्यादा लोकप्रिय हो हो. लेकिन लाई पर नज़र सबकी है.

BBC navigation

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.