9/11 के अभियुक्तों पर 'नए आरोप'

खालिद शेख मोहम्मद

खालिद मोहम्मद समेत पांच अभियुक्तों के ख़िलाफ़ आरोप तय किए गए है.

अमरीका में सैन्य अभियोजकों ने 11 सितंबर के हमले करने वाले अभियुक्तों के ख़िलाफ़ नए आरोप तय किए हैं.

11 सितंबर से जुड़े मामलों की सुनवाई ग्वांतानामो बे हिरासत केंद्र में हो रही है जहां प्रमुख अभियुक्तों में से एक खालिद शेख मोहम्मद और अन्य चार अभियुक्तों पर नए आरोप लगाए गए है.

यह सुनवाई एक सैन्य आयोग कर रहा है. इससे पहले 2008 में जब सैन्य अदालत ने आरोप तय किए थे तो राष्ट्रपति ओबामा के प्रशासन ने इन आरोपों को हटवा दिया था क्योंकि उस समय मामले को नागरिक अदालत में लाने की कोशिश हो रही थी.

पिछले महीने ओबामा प्रशासन ने साफ कर दिया कि ये मामले नागरिक अदालत में नहीं आएंगे और इनकी सुनवाई सैन्य अदालत में ही की जाएगी जिसके बाद नए आरोप तय किए गए हैं.

आरोपों के बारे में और जानकारी का इंतज़ार है. इन सभी पाँच अभियुक्तों पर कम से कम आठ आरोप लगाए जाएंगे जिसमें हत्या, युद्ध, नागरिकों पर हमले, विमान अपहरण और आतंकवाद के मामले शामिल हो सकते हैं.

समाचार एजेंसी एएफपी ने 11 सितंबर को मारे गए एक व्यक्ति के परिवारजनों को भेजे गए एक पत्र का हवाला देते हुए बताया है कि 167 ऐसे मामले हैं जिनसे 11 सितंबर के हमलों का षडयंत्र रचा गया है.

इससे पहले पेंटागन ने कहा था कि खालिद शेख मोहम्मद ने 11 सितंबर के हमले की पूरी ज़िम्मेदारी ली है. इस हमले में न्यूयॉर्क और वाशिंगटन में तीन हज़ार से अधिक लोग मारे गए थे.

खालिद मोहम्मद के अलावा वलीद बिन अतश, रामज़ी बिन अलसिब, अली अब्दुल अजीज़ और मुस्तफ़ा अहमद अल हवसावी पर भी आरोप तय होंगे.

खालिद मोहम्मद को 2003 मार्च में पाकिस्तान में गिरफ़्तार किया गया था और 2006 में क्यूबा के ग्वांतानामो शिविर में भेज दिया गया था.

अमरीकी अभियोजकों के अनुसार खालिद ने 11 सितंबर के हमलों में शामिल होने की बात कबूल की है. साथ ही उन्होंने 2002 में बाली के नाइटक्लब में बमबारी और 1993 में इंडोनेशिया के ही वर्ल्ड ट्रेड सेंटर में विस्फोट की भी ज़िम्मेदारी ली है.

इसके अलावा अमरीकी पत्रकार डैनियल पर्ल को मारने की बात भी उन्होंने स्वीकार की है.

इससे पहले 2007 में सुनवाई के दौरान खालिद ने आरोप लगाया था कि ग्वांतानामो बे में उन्हें टार्चर किया गया था. बाद में इस आरोप की पुष्टि सीआईए के दस्तावेज़ों में भी हुई.

BBC navigation

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.