ज्यादा कटौती से फिर होगी मंदी : ओबामा

बराक ओबामा

बराक ओबामा ने हेल्थकेयर को सस्ता करने की भी वकालत की है.

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने फिर चेतावनी दी है कि अगर सरकारी खर्चों में बहुत ज़्यादा कटौती हुई तो अमरीका फिर से मंदी के दौर में जा सकता है.

कैलिफोर्निया में सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के कर्मचारियों को संबोधित करते हुए ओबामा ने कहा कि जो ग़लत या फ़ालतू खर्चे हैं उन्हें रोकने की ज़रुरत है.

ओबामा का कहना है कि कटौती का एक तरीका होना चाहिए और कुल्हाड़ी लेकर कटौती करने का कोई मतलब नहीं है बल्कि इससे आगे नौकरियों की संभावना बनाने में दिक्कत हो सकती है.

उन्होंने कहा कि अगर अंधाधुंध कटौती हुई तो अमरीका का अगले वर्ष के बजट का वित्तीय घाटा खरबों डॉलर से अधिक का हो सकता है.

मैं नहीं चाहूंगा कि आपको अपना इलाज कराने के लिए भारत या कहीं और जाना पड़े. मैं चाहता हूं कि आप यहीं अपना इलाज कराएं. यहाँ इलाज का स्तर अच्छा है और मैं चाहता हूं कि वो आपके बजट में आ जाए

बराक ओबामा

हेल्थकेयर और भारत

ओबामा ने वाशिंगटन में भी एक भाषण दिया और वहां उन्होंने अमरीका में स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं की लागत कम करने पर भी ज़ोर दिया और कहा कि वो नहीं चाहेंगे कि अमरीका के लोग अपना इलाज करवाने मेक्सिको या भारत जैसे देशों में जाएं.

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ वर्षों में अमरीका से कई लोग अपने इलाज के लिए भारत आ रहे हैं क्योंकि यहां स्वास्थ्य सेवाओं का खर्चा अमरीका से कम आता है.

उनका कहना था, ‘‘ मैं नहीं चाहूंगा कि आपको अपना इलाज कराने के लिए भारत या कहीं और जाना पड़े. मैं चाहता हूं कि आप यहीं अपना इलाज कराएं. यहाँ इलाज का स्तर अच्छा है और मैं चाहता हूं कि वो आपके बजट में आ जाए.’’

अमरीका में स्वास्थ्य सेवाओं की बढ़ती क़ीमतों के बारे में दर्शकों में से पूछे गए एक सवाल के जवाब में ओबामा ने कहा कि वो कोशिश कर रहे हैं कि स्वास्थ्य सेवाओं का खर्च कम हो ताकि अमरीकी लोगों को इन सुविधाओं के लिए बाहर का रुख न करना पड़े.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.