टोनी ब्लेयर पर जूते, अंडे फेंके गए

ब्लेयर का विरोध

ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर पर आयरलैंड के शहर डबलिन के दौरे में अंडे, जूते और प्लास्टिक की बोतलें फेंकी गईं.

ब्लेयर 'ए जर्नी' यानी एक यात्रा नामक संस्मरणात्मक किताब के प्रचार के लिए आए थे.

जब वो वहाँ पहुँचे तो लगभग 200 लोगों की भीड़ ने उनका विरोध किया और नारे लगाए कि 'उनके हाथ खून से सने हैं.'

इसके बाद कुछ लोगों ने उनकी कार पर जूते और अंडे फेंके लेकिन वो उन्हें लगे नहीं.

बीबीसी संवाददाता का कहना है कि प्रदर्शनों की शुरुआत तो शांतिपूर्ण हुई लेकिन जल्द ही दृश्य बदल गया.

हालांकि इसके बाद टोनी ब्लेयर किताब की दुकान में गए और उन्होंने लोगों के लिए अपनी किताब पर हस्ताक्षर भी किए.

टोनी ब्लेयर ने अपनी किताब में इराक़ और अफ़ग़ानिस्तान यु्द्ध में ब्रिटेन की सेना भेजने को जायज़ ठहराया है.

इसमें उन्होंने लिखा है कि उन्होंने ये कल्पना भी नहीं की थी कि इराक में सद्दाम हुसैन के जाने के बाद वहां की स्थिति इतनी भयावह हो जाएगी.

उन्होंने लिखा है कि उन्हें इराक़ युद्ध में ब्रितानी जवानों के मारे जाने पर बेहद दुख है. लेकिन ब्रितानी सेना को इराक़ भेजने के अपने फैसले पर वे कायम हैं.

पिछले माह टोनी ब्लेयर ने घोषणा की थी कि वे इस किताब से मिली 40 लाख पाउंड की राशि को घायल सैनिकों को भेंट कर देंगे.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.