'तालेबान का प्रभाव कम हुआ है'

डेविड पेट्रियस

पेट्रियस की रणनीति इराक़ में कारगर रही है.

अफ़गानिस्तान में नैटो सेना के कमांडर जनरल डेविड पेट्रियस का कहना है कि अफ़गानिस्तान में कई स्थानों पर तालेबान के बढ़ते प्रभाव को कम कर दिया गया है.

अपना पद ग्रहण करने के बाद दिए गए पहले इंटरव्यू में जरनल पेट्रियस ने कहा कि यह बहुत ज़रुरी है कि तालेबान के उन सुरक्षित गढ़ों को नष्ट किया जाए जो उन्होंने पिछले कुछ महीनों में बनाए जब वो ताकतवर हो गए थे.

उन्होंने कहा कि वो अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को अफ़गानिस्तान में सेनाएं को वापस बुलाने के बारे में अपनी राय देंगे.

अगले साल जुलाई के महीने से अफ़गानिस्तान में तैनात अमरीकी सेनाओं को वापस आना है.

मैं जो सही सलाह हो सकती है वो दूंगा. मैं इसके लिए प्रतिबद्ध हूं

डेविड पेट्रियस

पेट्रियस का कहना था कि वो सिर्फ़ सलाह देंगे. इस सलाह को मानना या न मानना राष्ट्रपति का फ़ैसला होगा.

उन्होंने कहा, '' मैं जो सही सलाह हो सकती है वो दूंगा. मैं इसके लिए प्रतिबद्ध हूं.''

पेट्रियस पहले इराक़ में भी काम कर चुके हैं और उन्हें वहां ख़ासी सफलता मिली थी. वो इराक़ में भी उसी रणनीति पर काम कर रहे हैं.

यह पूछे जाने पर कि अमरीका और ब्रिटेन में लोग यह मानने लगे हैं कि तालेबान बहुत मज़बूत हो रहा है तो पेट्रियस का कहना था, '' यह धारणा बदलनी होगी क्योंकि नैटो ने तालेबान को मज़बूत होने से रोका है. पिछले कुछ सालों में वो जिस तेज़ी से मज़बूत हो रहे थे उस पर रोक लगी है. ख़ासकर काबुल, कंधार और हेलमंद में.''

पेट्रियस ने बताया कि जुलाई में सभी अमरीकी सेनाएं वापस नहीं जाएंगी बल्कि जुलाई में सैनिकों के वापस जाने की प्रक्रिया शुरु होगी और ये तारीख है जब अफ़गानी सैनिकों के हाथों में ज़िम्मेदारियां देनी शुरु हो जाएंगी.

लेकिन क्या ये समय सीमा ख़तरनाक या ग़लत नहीं है और अगर ऐसा है तो क्या वो राष्ट्रपति को यह बात बताएंगे, पेट्रियस ने कहा कि वो सैन्य अधिकारी के रुप में अपनी प्रोफेशनल सलाह राष्ट्रपति को देंगे.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.