वर्षों बाद मुआवज़े पर सहमति

राहतकर्मी

कई राहतकर्मी बीमार पड़ गए थे

वर्षों तक चले क़ानूनी दाँव-पेंच के बाद उन हज़ारों राहतकर्मियों और सफ़ाई कर्मचारियों को मुआवज़ा देने पर सहमति हो गई है, जो न्यूयॉर्क में 11 सितंबर के हमले के बाद प्रभावित हुए थे.

इस सहमति के बाद फ़ायर फाइटर्स, पुलिस, राहतकर्मियों और निर्माण कार्य से जुड़े कर्मचारियों को 65 करोड़ डॉलर से ज़्यादा की राशि दी जाएगी.

9/11 के हमले के तुरंत बाद की परिस्थिति से निपटना इन राहतकर्मियों, पुलिस और फ़ायर फ़ाइटर्स के लिए काफ़ी मुश्किल भरा रहा था.

उन्हें न सिर्फ़ मौत के भयानक दृश्यों का सामना करना पड़ा, बल्कि वे धुएँ के गुबार से भरे इलाक़े में उन्हें काफ़ी समय बिताना पड़ा.

प्रभावी

इनमें से कई लोग बाद में बीमार भी पड़ गए. जज और 95 प्रतिशत पीड़ितों की मंज़ूरी के बाद ही यह समझौता प्रभावी हो पाएगा.

मुआवज़े की यह राशि 1.1 अरब डॉलर के एक संघीय बीमा कोष से आएगी, जिस पर न्यूयॉर्क सिटी का नियंत्रण होता है.

इस मामले में शामिल लोगों के वकील की ओर से पीड़ितों के दावे की जाँच के लिए एक व्यक्ति चुना जाएगा तो इसकी वैधता और प्रभावितों को मिलने वाली राशि पर फ़ैसला करेगा.

न्यूयॉर्क के मेयर माइकल ब्लूमबर्ग ने इस समझौते को जटिल परिस्थितियों में एक निष्पक्ष और उचित समाधान बताया है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.