ओसामा के निशाने पर फिर अमरीका

ओसामा बिनलादेन

नए टेप मे फिर अमरीका की आलोचना

ओसामा बिन लादेन के बताए जा रहे एक नए ऑडियो टेप में दुनिया के गर्म होते तापमान के लिए अमरीका और अन्य औद्योगिक देशों को ज़िम्मेदार ठहराया गया है.

अरबी टीवी चैनल अल जज़ीरा पर प्रसारित इस वीडियो टेप में अमरीका की गुलामी से आज़ादी पाने के लिए अमरीकी डॉलर के बहिष्कार की सलाह दी गई है.

एक हफ्ते के भीतर ओसामा बिन लादिन का बताया जाने वाला ये दूसरा टेप जारी हुआ है, हालांकि दोनों में से किसी की भी प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं हुई है.

ताज़ा टेप में कहा गया है, “सभी औद्योगिक देश ख़ास तौर पर बड़े औद्योगिक देश दुनिया के गर्म होते तापमान के लिए ज़िम्मेदार हैं.”

बुश और अमरीकी कांग्रेस ने बड़ी कंपनियों को ख़ुश रखने के लिए क्योटो संधि को ठुकराया

बिन लादेन का नया ऑडियो टेप

टेप में जलवायु परिवर्तन पर हुई क्योटो संधि का अनुसमर्थन न करने के लिए पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश औऱ उनके प्रशासन की आलोचना की गई है.

टेप में कहा गया है, “बुश और अमरीकी कांग्रेस ने बड़ी कंपनियों को ख़ुश रखने के लिए क्योटो संधि को ठुकराया.”

ताजा़ ऑडियो टेप में अमरीकी डॉलर के बहिष्कार की भी बात कही गई है, “मैं जानता हूं कि इसके नतीजे काफी व्यापक होंगे, लेकिन अमरीका और अमरीकी कंपनियों की ग़ुलामी से आज़ादी का यही एक रास्ता है.”

अल क़ायदा की ओर से इसी हफ्ते जारी पहली टेप पर अपनी प्रतिक्रिया में अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा था कि इस तरह की हरकतों से पता चलता है कि ओसामा बिन लादेन कितने कमज़ोर पड़ चुके हैं.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.