'ओसामा की बेटी को छोड़े ईरान'

सऊदी अरब ने ईरान से अपील की है कि वो ओसामा बिन लादेन की एक बेटी को देश छोड़कर जाने की अनुमति दे.

ईरान ने स्वीकार किया है कि लादेन की बेटी तेहरान में है.

सऊदी अरब के विदेश मंत्री प्रिंस फ़ैसल ने कहा है कि उनके देश की सरकार ईरान के साथ बातचीत कर रही है ताकि लादेन की बेटी को छुड़ाया जा सके.

माना जाता है कि 17 साल की ईमान बिन लादेन तेहरान के पास उस परिसर से भाग निकली है जहाँ उसे और कुछ अन्य लोगों को नज़रबंद करके रखा गया था. उन्होंने तेहरान में सऊदी अरब के दूतावास में शरण ली है.

सऊदी अख़बार अशराक़ अल अवस्त ने पिछले महीने छापा था कि ईमान और पांच अन्य भाई-बहनों को ईरान ने तब से नज़रबंद करके रखा है जब 2001 में अमरीका ने अफ़ग़ानिस्तान पर हमला किया था.

अख़बार के मालिक प्रिंस साउद हैं और इसमें कहा गया है कि राजदूत ने ईमान लादेन को पर्मिट जारी किया है ताकि वो सऊदी अरब वापस लौट सके.

अख़बार ने ओसामा बिन लादेन के चौथे बेटे उमर की पत्नी ज़ैना बिन लादेन के हवाले से कहा है कि ओसामा के बच्चों और पत्नी खैरिया तेहरान के बाहर एक रिहायशी परिसर में रह रहे हैं.

ज़ैना बिन लादेन का हवाला देते हुए कहा गया है, "ओसामा बिन लादेन के बच्चों के घर आस-पास ही हैं, घर में बगीचें हैं. उनके पास लैपटॉप भी हैं लेकिन इंटरनेट नहीं है. परिसर में स्विमिंग पूल भी है."

'मानवीय मुद्दा'

अख़बार के मुताबिक ज़ैना और उनके पति उमर ने ओसामा के किसी एक बच्चे के साथ फ़ोन पर बात की थी. ज़ैना क़तर में रहती हैं.

सऊदी अरब की राजधानी रियाध में प्रिंस फ़ैसल ने कहा है कि उनके देश को लगता है कि ये मानवीय मुद्दा है. उन्होंने कहा कि ईरान से बात चल रही है. ईरान के विदेश मंत्री ने पिछले हफ़्ते कहा था कि उन्हें बताया गया है कि ओसामा बिन लादेन की बेटी तेहरान में है.

उन्होंने कहा कि ये स्पष्ट नहीं है कि ओसामा की बेटी तेहरान कैसे आई लेकिन अगर उसके पास सही दस्तावेज़ है तो वो ईरान छोड़ सकती हैं.

ईरान और सऊदी अरब के बीच रिश्ते बहुत अच्छे नहीं रहे हैं. विशलेषकों का कहना है कि इसकी एक वजह शिया और सुन्नी मुस्लिमों के बीच तनाव है.

ओसामा बिन लादेन का जन्म सऊदी अरब के एक अमीर परिवार में हुआ था लेकिन 1991 में सरकार विरोधी गतिविधियों के कारण उन्हें वहाँ से निकाल दिया गया था. उन पर अमरीका में 9/11 हमलों की साज़िश रचने का आरोप है.

अशराक़ अल अवस्त अख़बार के मुताबिक उमर बिन लादेन ने कहा है कि तेहरान में उनके रिश्तेदारों का पिता पर लगे आतंकवाद के आरोपों से कोई लेना देना नहीं है.

BBC navigation

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.