पाकिस्तान में जन्माष्टमी का जश्न

19 अगस्त 2014 अतिम अपडेट 07:25 IST पर

रावलपिंडी में तक़रीबन चार हज़ार हिंदू रहते हैं. उन्होंने सोमवार रात शहर के कृष्ण मंदिर में जन्माष्टमी का त्योहार मनाया.
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
पाकिस्तान के शहर रावलपिंडी के कृष्ण मंदिर में जन्माष्टमी का त्योहार मनाया गया. सोमवार की रात मंदिर में भजन और पूजा पाठ का विशेष आयोजन किया गया था. (सभी तस्वीरें और रिपोर्ट शिराज हसन)
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
इस अवसर पर रावलपिंडी के हिंदू परिवार मंदिर में इकट्ठे हुए. उन्होंने भोजन किया और ढोल की थाप पर नाच कर खुशी व्यक्त करते रहे. इसके बाद आरती भी हुई और हांडी भी फोड़ी गई.
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
कृष्ण मंदिर रावलपिंडी के तीन मंदिरों में सबसे बड़ा और पुराना मंदिर है.
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
एक अंदाज़े के अनुसार रावलपिंडी शहर में हिंदू आबादी लगभग तीन से चार हज़ार है. हिंदू समुदाय के लोग धार्मिक त्योहार सुरक्षा कारणों से मंदिर के अंदर ही मनाते हैं.
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
हिंदू समुदाय के जगमोहन अरोड़ा ने बीबीसी से बात करते हुए बताया कि मंदिर में कृष्ण जन्माष्टमी त्योहार का आयोजन 1973 से हो रहा है.
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
यह मंदिर हिंदूओं के देवता कृष्ण के नाम से जुड़ा है. साल का सबसे बड़ा त्योहार कृष्ण जन्माष्टमी यहीं मनाया जाता है.
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
जगमोहन अरोड़ा का कहना था कि 'इस दिन हम पूजा और ख़ुशी व्यक्त कर कृष्ण भगवान की दुनिया में आमद का जश्न मनाते हैं.'
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
उन्होंने कहा, 'जिस तरह कृष्ण ने बुराई के ख़िलाफ़ अच्छाई का संदेश दिया आज हम भी यही प्रतिज्ञा करते हैं कि अपने अंदर से बुराई को खत्म करेंगे.'
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
जगमोहन अरोड़ा का कहना था, "आज इस त्योहार के अवसर पर मैं प्रार्थना करता हूँ कि भगवान करे कि पाकिस्तान जिस बेचैनी के दौर से गुजर रहा है इस दौर में सभी पाकिस्तानी रंग, धर्म और नस्ल से परे होकर देश के विकास के लिए काम करें.''
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
पंडित जय राम का कहना था, ''जब तेरा जन्म दिवस आता है, मन नाचता है, मन गाता है. आज खुशियां बांटने का दिन है."
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
कृष्ण जन्माष्टमी त्योहार मनाने के लिए हिंदू समुदाय की महिलाएं और बच्चे भी मंदिर में मौजूद रहे. बहुत सारी महिलाओं ने चौबीस घंटे का व्रत भी रखा था.
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
एक महिला कंवल अशोक का कहना था कि उन्होंने भगवान की ख़ुशी के लिए व्रत रखा और अब यहाँ अपने परिवार के साथ जन्माष्टमी मनाने आई हैं.
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
सुधार यंग हिंदू वेलफेयर के अध्यक्ष जगजीत भट्टी ने कहा कि हमें खुशी है कि पाकिस्तान के हिंदू अपने धार्मिक त्यौहार आज़ादी से मनाते हैं.
पाकिस्तान में जन्माष्टमी
उनका कहना था कि 'अपने वतन के लिए प्रार्थना करता हूँ कि भगवान हमें बुरी नजर से बचाए.'