ऐसे बनती है आपका दिन मीठा करने वाली सेवईंयां...

20 जुलाई 2014 अतिम अपडेट 08:35 IST पर

ईद का मतलब लज़ीज़ सेवईंयों से भी है. सेवईंयां पकाने के कई तरीक़े तो आप भी जानते होंगे, लेकिन ये सेवईंयां बनती कैसे है.... देखिए तस्वीरें
सेवईं फ़ैक्ट्री
रमज़ान का महीना आते ही सेवईं बनाने के कारख़ानों में काम करने वाले कारीगरों का कम बढ़ जाता है.
सेवईं फ़ैक्ट्री
इसको बनाने के लिए मशीनों का प्रयोग बड़े पैमाने पर किया जाता है.
सेवईं फ़ैक्ट्री
रमज़ान के महीने में कारीगरों को दिन-रात काम करना पड़ता है. मशीन से निकालने के बाद सेवईं को हाथ से अलग किया जाता है.
सेवईं फ़ैक्ट्री
सेवई को सूखने के लिए धूप में एक ख़ास समय तक रखा जाता है.
सेवईं फ़ैक्ट्री
रात में भी सेवईं बनाने का काम होता है जिसे सूखने के लिए कमरे में ही रखना होता है.
सेवईं फ़ैक्ट्री
वहीदा बानो बताती हैं कि यह काम वह 12 साल से कर रही हैं और रमज़ान के दिनों में उनके पास पैसा कमाने का अवसर ज़्यादा होता है.
सेवईं फ़ैक्ट्री
सेवईं तैयार होने के बाद डिब्बो में बन्द हो कर ईद में मिठास घोलने के लिए तैयार हो जाती है.