BBC navigation

मैं और मेरा बंदर!

 रविवार, 22 जून, 2014 को 12:20 IST तक के समाचार
  • बंदर के साथ राजेंद्र शुक्ला
    इलाहाबाद के राजेंद्र शुक्ला भी देश के उन लाखों लोगों में शामिल हैं जो रिक्शा में सामान ढो कर अपना पेट पालते हैं. लेकिन उनके इस काम में हर दम उनके साथ रहता है उनका एक नन्हा सा दोस्त, उनका बंदर.
  • बंदर के साथ राजेंद्र शुक्ला
    साथ रहते हैं, साथ काम करते हैं और साथ ही आराम भी करते हैं.
  • बंदर के साथ राजेंद्र शुक्ला
    राजेंद्र शुक्ला महीने में पांच से सात हजार रुपए कमाते हैं, इसी से वो अपना गुजारा चलाते हैं. फिलहाल दोनों बिस्किट का आनंद ले रहे हैं.
  • बंदर के साथ राजेंद्र शुक्ला
    चिलचिलाती गर्मी में सड़क पर चलने वालों का प्यास से बुरा हाल होता है, लेकिन राजेंद्र शुक्ला इससे निपटने के लिए बोतल हमेशा अपने साथ रखते हैं.
  • बंदर के साथ राजेंद्र शुक्ला
    राजेंद्र शुक्ला अपने इस दोस्त को कभी-कभी जूस भी पिलाते हैं.
  • बंदर के साथ राजेंद्र शुक्ला
    राजेंद्र जब अपने रिक्शे में सामान लेकर चलते हैं, तो लगता है कि उनका नन्हा साथी भी अपनी तरफ से मदद करने की कोशिश कर रहा है.
  • बंदर के साथ राजेंद्र शुक्ला
    बंदरों को लेकर बच्चों में बहुत कौतूहल होता है. जब बच्चे मिलते हैं तो राजेंद्र बच्चों को अपने बंदर से कुछ इस तरह मिलवाते हैं.

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.