BBC navigation

ये है इंडोनेशिया का सबसे बड़ा रेडलाइट इलाक़ा

 बुधवार, 18 जून, 2014 को 16:16 IST तक के समाचार

तस्वीरों मेंः इंडोनेशिया का सबसे बड़ा रेडलाइट इलाक़ा होगा बंद

  • इंडोनेशिया में देह व्यापार का कारोबार
    इंडोनेशिया के सूरबाया शहर का रेडलाइट इलाक़ा डॉली उपनाम से मशहूर है. इसे दक्षिण-पूर्व एशिया का सबसे बड़ा रेडलाइट इलाक़ा माना जाता है. (सभी तस्वीरें- जुनी क्रिसवांटो)
  • इंडोनेशिया में देह व्यापार का कारोबार
    शहर के नए मेयर ने इस इलाक़े को 18 जून तक बंद कराने की बात कही है.
  • इंडोनेशिया में देह व्यापार का कारोबार
    इस इलाक़े का नाम नीदरलैंड की एक महिला के नाम पर रखा गया है. यह महिला औपनिवेशिक काल में यहाँ वेश्यालय का संचालन करती थीं. इंडोनेशिया दुनिया का सबसे ब़ड़ी मुस्लिम आबादी वाला देश है. डॉली ज़िला देश का दूसरा सबसे अधिक मुस्लिम आबादी वाला ज़िला है
  • इंडोनेशिया में देह व्यापार का कारोबार
    कई इंडोनेशियाई सूरबाया को 'नायकों का शहर' मानते हैं. यह मान्यता इंडोनेशिया की आज़ादी की लड़ाई के लिए शहर में हुए युद्धों के कारण बनी है.
  • इंडोनेशिया में देह व्यापार का कारोबार
    यौनकर्मी रेडलाइट इलाक़ों को बंद कराने के विरोध में सार्वजनिक विरोध-प्रदर्शन करते रहे हैं.
  • इंडोनेशिया में देह व्यापार का कारोबार
    इंडोनेशिया के यौनकर्मी एक सेक्स शॉप में एक नाटक का मंचन करते हुए. इस नाटक में यौनकर्मी सरकारी अधिकारियों और इस्लामी मौलवी का किरदार अदा कर रही हैं
  • इंडोनेशिया में देह व्यापार का कारोबार
    इंडोनेशिया के पहले राष्ट्रपति सुकर्णो का जन्म भी इसी शहर में हुआ था. सुकर्णो ने नीदरलैंड के औपनिवेशिक शासन से आज़ादी की लड़ाई में देश का नेतृत्व किया था.
  • इंडोनेशिया में देह व्यापार का कारोबार
    कुछ यौनकर्मियों का आरोप है कि सरकार ने इस इलाक़े को बंद करने की घोषणा करते समय उन्हें नई जगह तलाशने के लिए पर्याप्त समय नहीं दिया है.
  • इंडोनेशिया में देह व्यापार का कारोबार
    वहीं कई आम नागरिक इस रेडलाइट एरिया को बंद कराने के लिए प्रदर्शन करते रहे हैं.

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.