होम्स: विद्रोहियों के गढ़ से निकाले गए लोग

10 फरवरी 2014 अतिम अपडेट 10:02 IST पर

सीरिया के शहर होम्स में मदद लेकर जा रहे कर्मियों पर हमले किए गए. वहां से लोगों को निकालने का काम जारी है. देखें कुछ तस्वीरें.
होम्स शहर में दाख़िल होतीं संयुक्त राष्ट्र की गाड़ियां
सीरिया में विरोधियों के कब्ज़े वाले होम्स शहर से संयुक्त राष्ट्र और सीरियाई रेडक्रॉस ने मिलकर वहाँ फंसे लोगों को निकालने का काम शुरू किया है. होम्स शहर में दाख़िल होतीं संयुक्त राष्ट्र की गाड़ियां.
संयुक्त राष्ट्र और रेडक्रॉस के सदस्यों का स्वागत करते विरोधी लड़ाके
सहायता दल के सदस्यों का स्वागत करते विरोधी लड़ाके. संयुक्त राष्ट्र ट्रकों के ज़रिए शहर के तीन हज़ार लोगों को खाना, पानी और दवाएं पहुँचाने का प्रयास कर रहा है.
होम्स शहर को छोड़ता एक परिवार
तस्वीर से होम्स शहर की स्थिति का अनुमान लगाया जा सकता है. सुरक्षित ठिकाने की तलाश में निकलता एक परिवार.
होम्स में सड़क किनारे संयुक्त राष्ट्र कर्मियों का इंतज़ार करता एक परिवार
सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचने के लिए लोगों को लंबा इंतज़ार करना पड़ रहा है.
बीमार को एंबुलेंस में चढ़ाते रेडक्रॉ़स के सदस्य
लोग भारी तादाद में बीमार हैं और उन्हें उपचार सहायता भी पूरी तरह नहीं मिल पा रही. एक बीमार को एंबुलेंस में चढ़ाते रेडक्रॉस के सदस्य.
रे़डक्रॉस और संयुक्त राष्ट्र कर्मचारी के साथ एक बुजुर्ग
मुल्क में संघर्षरत दोनों पक्षों के बीच मानवीय आधार पर हुए तीन दिन के समझौते का रविवार अंतिम दिन था.
एक व्यक्ति को निकालकर ले जाता एक हथियारबंद युवक
व्हील चेयर पर बैठाकर एक व्यक्ति को ले जाता एक हथियार बंद युवक. होम्स के गवर्नर तलाल अल बाज़ारी ने कहा है कि वहाँ फंसे लोगों को सुरक्षित निकलने के लिए युद्धविराम को तीन और दिन के लिए बढ़ाया जा सकता है.
बच्चों के साथ खेलते सीरियाई रेडक्रॉस के सदस्य
दोनों पक्षों के बीच जिनेवा में शांति वार्ता हुई. सोमवार को वार्ता फिर शुरू हो सकती है.
होम्स से सुरक्षित निकाले गए लोगों को खाना खिलाते रेडक्रॉस के सदस्य.
लोगों को भोजन की दिक्क़तें भी पेश आ रही हैं.
राहत सामग्री से लदे ट्रक और एंबुलेंस
राहत सामग्री से लदी गाड़ियां और एंबुलेंस. बीबीसी संवादाता जिम म्यूर का कहना है कि राहत कर्मचारी रविवार को शहर में सामान लेकर पहुंचे.