BBC navigation

हवा के सहारे धान

 शनिवार, 30 नवंबर, 2013 को 23:29 IST तक के समाचार

चले गाँव की सैर पर...

  • ब्रह्मपुत्र नदी
    बच्चे और बकरी के साथ दो महिलाएं ब्रह्मपुत्र नदी पार करने के लिए नाव की सवारी को जा रही है. 2906 किलोमीटर लंबी ब्रह्मपुत्र नदी एशिया की सबसे बड़ी नदी है, जो भारत और बांग्लादेश में प्रवेश से पहले चीन के तिब्बत क्षेत्र से होकर गुज़रती है. यह नदी अंततः बंगाल की खाड़ी में मिल जाती है.
  • भारत, कृषि प्रधान देश, अर्थव्यवस्था, त्रिपुरा, अगरतला
    त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में एक किसान धान हवा के सहारे धान साफ़ करते हुए. धान की फसल की कटाई के साथ उसकी मड़ाई और साफ़ करके कुटाई करने का सिलसिला भी शुरू हो जाता है.
  • भारत, कृषि प्रधान देश, अर्थव्यवस्था,
    भारतीय महिलाएं धान की फसल काटने के दौरान विश्राम करती हुईं. भारत में आजकल धान की कटाई हो रही है. भारत की 70 फ़ीसदी आबादी आज भी गाँवों में रहती है. भारतीय अर्थव्यवस्था में कृषि का महत्वपूर्ण स्थान है.
  • भारत, कृषि प्रधान देश, अर्थव्यवस्था,
    सिलीगुड़ी के गाँव में एक किसान धान की फसल को पीटकर धान अलग करते हुए. विश्व में भारत चीन के बाद दूसरा सबसे बड़ा चावल उत्पादक देश है.
  • भारत, कृषि प्रधान देश, अर्थव्यवस्था,आदिवासी महिलाएं , आजीविका
    आदिवासी महिलाएं अपने सर पर बांस के लट्ठों का गट्ठर ले जा रही हैं. इस तस्वीर में ग्रामीण जीवन की मेहनतकश ज़िंदगी की झलक मिलती हैं. भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में महिलाएं आजीविका कमाने में अग्रणी भूमिका निभाती हैं.
  • आंध्र प्रदेश,
    विशाखापट्टनम ज़िले में मछलियां पकड़ने के लिए जाल फेंकता एक मछुआरा. आंध्र प्रदेश के तट पर पहुंचने के पहले 'लहर' तूफ़ान काफ़ी कमजोर पड़ गया था. इसके बाद लोगों को ज़िंदगी ढर्रे पर लौट रही है.
  • कोलकाता, गोभी की खेती
    कोलकाता में गोभी के फूलों की खेती में तल्लीन महिलाएं. फूलगोभी सर्दियों के मौसम की एक प्रमुख सब्ज़ी है.
  • दक्षिण भारत, कोच्चि, केले की खेती
    दक्षिण भारत के शहर कोच्चि में केले की खेती का विहंगम दृश्य. थोक बाज़ार में ले जाने के पहले खेतों में काम करने वाले मज़दूर उनकी माप-तौल करने के बाद ढेला गाड़ी में डाल रहे हैं.

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.