कहां उठा दर्द और धूल का ग़ुबार

18 नवंबर 2013 अतिम अपडेट 19:43 IST पर

इंडोनेशिया में उत्तरी सुमात्रा में माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी फिर भड़क उठा है. इस ज्वालामुखी से 8000 मीटर ऊंची धूल और आग की लपटें उठ रही हैं.
माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी
इंडोनेशिया में उत्तरी सुमात्रा प्रांत के कारो ज़िले में माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी एक बार फिर से भड़क उठा है.
माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी
माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी को इंडोनेशिया में सक्रिय 129 ज्वालामुखियों में गिना जाता है.
माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी
इससे पहले 24 अक्टूबर को माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी फट गया था. इसकी वजह से आसपास के आसमान पर धुएं का ग़ुबार छा गया था.
माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी
ज्वालामुखी के पास मौजूद गांव के लोगों ने माउंट सिनाबुंग के शांत होने के लिए सामूहिक रूप से प्रार्थना की.
माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी
माउंट सिनाबुंग के फटने की यह तस्वीर उत्तरी सुमात्रा के टीगा पांचुर इलाक़े से ली गई है. सिनाबुंग और माउंट मेरापी नाम के दो ज्वालामुखी सोमवार को फिर फटे.
माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी
सुमात्रा ज़िले के अधिकारियों के मुताबिक़ पांच गांवों के क़रीब 4000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.
माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी
लोगों को घरों में भी मुंह पर कपड़ा बांधकर काम करना पड़ रहा है क्योंकि धुएं और मिट्टी का ग़ुबार घरों के अंदर तक पहुंच गया है.
माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी
माउंट सिनाबुंग के पास मौजूद ज्वालामुखी माउंट मेरापी से भी लावा निकल रहा है. यह तस्वीर इंडोनेशिया के पुराने शहर योगियाकरता के पास मौजूद पाकेम से ली गई है.
माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी
ज्वालामुखी फटने की वजह से सड़कें राख से पट गई हैं और इससे निकलने वालों को मुंह पर कपड़े बांधकर निकलना पड़ रहा है. कई लोग घरों को छोड़कर दूसरे इलाक़ों का रुख करने को मजबूर हैं.
माउंट सिनाबुंग ज्वालामुखी
ज्वालामुखी से निकली धूल के ग़ुबार से सबसे ज़्यादा नुक़सान स्थानीय लोगों की फ़सल को पहुंचा है.