BBC navigation

चेहरा न देखो........

 रविवार, 17 नवंबर, 2013 को 16:22 IST तक के समाचार
  • जर्मनी के कोलोन में हज़ारों लोगों ने कार्निवाल में हिस्सा लिया. कोलोन के कैथेड्रल के सामने लड़कियों ने चेहरों को रंग-बिरंगे अंदाज़ में रंगकर कार्निवाल का आनंद लिया.
  • स्विट्ज़रलैंड के ज़्यूरिख़ में हर्शेनप्लाज़ स्क्वेयर पर भी कार्निवाल की धूम रही. कई लोगों ने चेहरों पर रंग लगाकर इसमें हिस्सा लिया.
  • ज़्यूरिख़ में हर्शेनप्लाज़ स्क्वेयर पर इकट्ठा हुए कुछ लोगों ने मास्क पहन रखे थे. कार्निवाल के दौरान इसी तरह की पोशाकें पहनकर निकलना रिवाज़ है.
  • पश्चिम जर्मनी के शहर ड्यूसलडॉर्फ़ में कुछ लोग नकली मूछें लगाकर आए थे. जर्मनी के राइन इलाक़े में कार्निवाल में शामिल होने वाले लोग 11 बजने से 11 मिनट पहले इस त्योहार की शुरुआत करते हैं.
  • जर्मनी के ड्यूसलडॉर्फ़ का कार्निवाल रेनिश कार्निवाल का सबसे बड़ा आयोजन है. एश वैंज़डे को 11 नवंबर से शुरू हुए कार्निवाल के दौरान रोज़ेनमॉन्टाग परेड के बाद राज्य की राजधानी में क़रीब 300 कार्निवाल सत्रों का आयोजन किया जाता है.
  • जेस्टर्स यानी मूर्खों का महोत्सव का सबसे अहम आयोजन है रोज़ेनमॉन्टाग यानी रोज़ मनडे परेड जो दो किलोमीटर लंबी होती है और इसमें शामिल लोग पूरी तरह से अपने चेहरों पर रंग लगाकर आते हैं.
  • जर्मनी के ड्यूसलडॉर्फ़ शहर में आयोजित हो रहे इस कार्निवाल के दौरान नाचते-गाते लोगों का समूह पूरे शहर से गुज़रता है.
  • ड्यूसलडॉर्फ़ कार्निवाल का इतिहास काफ़ी पुराना है. साल 1825 में ग्रैंड परेड के बाद पहले रविवार को कोईप्रिंस का चुनाव हुआ था और इसके बाद पहली बार रोज़ मनडे परेड की गई थी.
  • लैंट की शुरुआत से पहले कार्निवाल अपने चरम को पहुंच जाता है. रंग बिरंगे चेहरों के साथ लोग इकट्ठे होते हैं और हॉपेडिज़ को याद करते हैं जो एक स्थानीय नायक था.

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.