BBC navigation

विक्रमादित्य का इंतज़ार ख़त्म

 शनिवार, 16 नवंबर, 2013 को 09:43 IST तक के समाचार
  • एडमिरल गोर्श्कोव
    आईएनएस विक्रांत के बाद विमान वाहक युद्धपोत विक्रमादित्य का इंतज़ार भारतीय नौसेना को लंबे समय से था. रक्षा मंत्री एके एंटनी शनिवार को रूस में इसे औपचारिक तौर पर नौसेना में शामिल करेंगे.
  • बंदरगाह पर एडमिरल गोर्श्कोव
    माना जा रहा है कि इसे भारत की नौसैनिक क्षमता को बढ़ाने के लिए ख़ासतौर पर डिज़ाइन किया गया है.
  • भारतीय नौसेना का विमानवाहक पोत विक्रमादित्य
    आईएनएस विक्रमादित्य एक कीव श्रेणी का विमानवाहक युद्धपोत है जिसे 1987 में पहली बार 'बाकू' के नाम से रूस की नौसेना में शामिल किया गया था.
  • भारतीय नौसेना का विमानवाहक पोत विक्रमादित्य
    बाद में इसका नाम एडमिरल गोर्श्कोव कर दिया गया. 1995 तक रूस में इसे इस्तेमाल में लाया जा रहा था. इसके बाद रूस ने इसे भारत को देने की पेशकश की.
  • भारतीय नौसेना का विमानवाहक पोत विक्रमादित्य
    भारतीय नौसेना में 44,500 टन के इस युद्धपोत की लंबाई 184 मीटर है. यह युद्धपोत नौसेना के 'मिग-29के' लड़ाकू विमानों से सज्जित होगा.
  • भारतीय नौसेना का विमानवाहक पोत विक्रमादित्य
    इसमें 'कामोव 31' और 'कामोव 28' जैसे पनडुब्बी मारक हथियार लगे होंगे और इस पर समुद्री निगरानी के लिए हेलिकॉप्टर भी तैनात रहेंगे.
  • भारतीय नौसेना का विमानवाहक पोत विक्रमादित्य
    'मिग-29के' से भारतीय नौसेना को महत्वपूर्ण बढ़त मिलने की संभावना है. इसकी पहुँच 700 समुद्री मील से लेकर 1900 समुद्री मील तक बताई जाती है.
  • भारतीय नौसेना का विमानवाहक पोत विक्रमादित्य
    उड़ान के दौरान भी इसमें ईंधन भरा जा सकता है. इतना ही नहीं 'मिग-29के' कई अत्याधुनिक हथियारों से लैस होगा. हवा से पानी में मार करने वाले मिसाइलें, हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलें, गाइडेड बम और रॉकेट जैसे मारक हथियार होंगे इसके पास.
  • भारतीय नौसेना का विमानवाहक पोत विक्रमादित्य
    इतना ही नहीं आईएनएस विक्रमादित्य पर 1600 लोगों के रहने का इंतज़ाम होगा जो इसे तैरते हुए शहर की शक्ल दे देता है. रोज़मर्रा की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए एक लाख अंडे, 20 हज़ार लीटर दूध और 16 टन चावल के तौर पर महीने भर का राशन मौजूद होगा.
  • भारतीय नौसेना का विमानवाहक पोत विक्रमादित्य
    विक्रमादित्य पर देश में बने ध्रुव हेलिकॉप्टर और 'सीकिंग' हेलिकॉप्टर भी तैनात रहेंगे. भारतीय नौसेना ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है, "विक्रमादित्य पर मौजूद सुविधाएँ और संसाधन इतनी मात्रा पर होंगे कि ये समंदर में 45 दिनों तक रह लेगा. आठ हज़ार टन वज़न लेकर ये 13 हज़ार किलोमीटर की यात्रा तय करने में सक्षम होगा."
  • भारतीय नौसेना का विमानवाहक पोत विक्रमादित्य
    जहाज़ को ताक़त देने के लिए इसमें आठ ब्वॉयलर लगे होंगे और यह अधिकतम 30 नॉट प्रतिघंटे की रफ्तार से चल सकेगा.

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.