BBC navigation

कुछ पल आराम के लिए...

 बुधवार, 30 अक्तूबर, 2013 को 11:40 IST तक के समाचार
  • हर हफ़्ते हम अपने पाठकों से किसी ख़ास थीम पर उनकी तस्वीरें मंगाते हैं. इस बार की थीम है ‘आराम करते हुए’. इस सिलसिले की शुरुआत करते हैं इला फ्राकोवस्का की तस्वीर के साथ.
  • ये तस्वीर भेजी है पॉल मैकडोवाल जो कहते हैं, “मैंने ये तस्वीर आरान में ली जहां सारी सील एक चट्टान पर आराम कर रही थीं. ये सील मेरी तरफ़ मुड़ी और मानो मुस्करा दी हो.”
  • एलिस डोलिंग अपनी इस तस्वीर पर कहती हैं, “पूरे आर्ट म्यूजियम के चक्कर लगाने के बाद मेरे पिता (सबसे दायीं तरफ) थककर चूर हो गए. वो खुद पेशे से स्पोर्ट्स मसाज थेरेपिस्ट हैं. लेकिन वो इतने थक गए थे कि बिल्कुल निढाल हो गए.”
  • थेरेसा हग्स का कहना है, “इन जनाब का नाम है किपेन. इनकी उम्र है 16 वर्ष और वो बड़े आराम से आराम फरमा रहे हैं.”
  • ये तस्वीर भेजी मारसिलन बिएसज्कज़ानिन ने और उनका कहना है, “ये तस्वीर में पोलैंड के रोकलाव में जापानी गार्डन की लकड़ी से बनी छत पर खींची थी.”
  • इस तस्वीर को कैमरे में कैद करने वाले जॉन एंडरसन कहते हैं, “कोस्टा रिका के इस परिंदे की तस्वीर मैंने सुबह सुबह ली थी, उस वक्त वो बस जगे ही होंगे.”
  • जॉन व्लासियुक कहते हैं, “गर्मियां की छुट्टियां इस तरह की अलसाई हुई दोपहरें के लिए बनी हैं. एक थकाऊ दिन के बाद मेरी बेटी बीच पर आराम कर रही है. ये तस्वीर मलेशिया में बिताई गई हमारी छुट्टियों की है.”
  • लुईसे लुओ अपनी इस तस्वीर के बारे में कहती हैं, “तुर्की में मेरी छुट्टियां बहुत ही शानदार रहीं.”
  • जेरेमी पीटर्स लिखते हैं, “इस साल के शुरू में चीन के कांगज़ुओ गया और वहां मुझे ये व्यक्ति इस तरह आराम फरमाता हुआ दिखाई दिया.”
  • रिबेका स्टील-यासींस्का का कहना है, “ये तस्वीर है मेरी बेटी की जब वो लगभग तीन हफ्तों की थी. एक दिन दूध पीने के बाद वो इस तरह आराम कर रही थी. सचमुच नवजात बच्चों पर दूध गजब का असर करता है.”
  • जॉन मिलर लिखते हैं, “कीनिया के संबुरु नेशनल पार्क में सफारी के दौरान मैंने ये तस्वीर ली, जिसमें एक तेंदुआ छायादार पेड़ पर आराम कर रहा है. वो शायद इस बात से बेख़बर है कि उसके पास ही खड़ी लैंड रोवर गाड़ी में चार लोग उसे निहार रहे हैं”
  • टोनी इवांसन लिखते हैं, “ये है मेरी बेटी शार्लोट का टेडी लुई, जिसे देखकर लगता है कि थकान मिटाने के लिए आराम कर रहा है.”
  • और आखिर में उमर नवाज़ की तस्वीर जिन्होंने लिखा है, “मैं ख़ुद एक साथ चार मुद्राओं में.”

Videos and Photos

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.